लाइफ स्टाइल

जानिए योग का शरीर पर किस प्रकार से होता है असर

Mahima Marko
20 Jun 2022 3:30 PM GMT
जानिए योग का शरीर पर किस प्रकार से होता है असर
x
योगासनों को स्वास्थ्य विशेषज्ञ शारीरिक और मानसिक फिटनेस का मूल मंत्र मानते हैं। योगाभ्यास की आदत आपको शारीरिक रूप से सक्रिय बनाए रखने के साथ कई प्रकार के रोगों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। योगासनों को स्वास्थ्य विशेषज्ञ शारीरिक और मानसिक फिटनेस का मूल मंत्र मानते हैं। योगाभ्यास की आदत आपको शारीरिक रूप से सक्रिय बनाए रखने के साथ कई प्रकार के रोगों के जोखिम को कम करने में मदद कर सकता है। सदियों से भारत में योगाभ्यास करके स्वास्थ्य लाभ प्राप्त किया जाता रहा है। विशेषज्ञ यहां तक दावा करते हैं कि जो लोग नियमित तौर से योगासनों का अभ्यास करते रहते हैं उनमें डायबिटीज और हृदय रोग जैसी तेजी से बढ़ती गंभीर बीमारियों का जोखिम भी कम होता है।

योग शारीरिक निष्क्रियता के खतरे को कम करते हुए, शरीर में रक्त संचार बढ़ाने, हड्डियों-मांसपेशियों को मजबूती देने के साथ लाइफस्टाइल में गड़बड़ी के कारण होने वाली स्वास्थ्य समस्याओं के जोखिम को कम कर सकता है। मेडिकल साइंस भी योग के अभ्यास को सेहत के लिहाज से काफी फायदेमंद मानता है। प्रतिरक्षा से लेकर जीवन की गुणवत्ता को बेहतर बनाए रखने तक के लिए नियमित तौर पर योगासनों के अभ्यास की आदत बनाकर लाभ प्राप्त किया जा सकता है।
योग के पीछे का विज्ञान
कुछ शोध बताते हैं कि योग का अभ्यास करने से शारीरिक या मनोवैज्ञानिक पहलुओं में सुधार हो सकता है। योग का अभ्यास शारीरिक और मानसिक संतुलन बनाए रखने के साथ शरीर के रसायनों और हार्मोन्स पर सकारात्मक प्रभाव डालता है जिससे इससे संबंधित कई तरह की दिक्कतों का जोखिम कम हो जाता है। यह संपूर्ण स्वास्थ्य पर सकारात्मक प्रभाव डालते हुए आपको रोग मुक्त बनाए रखने में भी सहायक है।
बच्चों और किशोरों के लिए आवश्यक
अमेरिकन एकेडमी ऑफ पीडियाट्रिक्स (एएपी) के अनुसार बच्चों और किशोरों में योग के अभ्यास की आदत बनाकर उनमें भावनात्मक, मानसिक, शारीरिक और व्यवहारिक स्वास्थ्य स्थितियों को मजबूत किया जा सकता है। योग, बच्चों को आत्मविश्वास बढ़ाने, काम पर ध्यान केंद्रित करने और समस्याओं को शांति से संभालने में मदद करने में पारंगत करते हैं। नियमित रूप से अभ्यास करने पर से यह शारीरिक संतुलन में सुधार करने, तनाव दूर करने और ताकत को बढ़ावा देने के लिए कारगर हो सकता है।
अध्ययनों में क्या पता चला?
मेडिकल साइंस योग के अभ्यास को शरीर के लिए अति प्रभावी मानता है। साल 2019 के एक अध्ययन में वैज्ञानिकों ने पाया कि मानक शारीरिक शिक्षा के साथ स्कूल में सप्ताह में दो बार योग करने वाले छात्रों में पठन-पाठन को लेकर सक्रियता और शारीरिक स्वास्थ्य दोनों में विशेष लाभ देखा गया।
वहीं 2016 में अध्ययनों की एक समीक्षा में पाया गया कि स्कूल-आधारित योग कार्यक्रम किशोरों के स्वास्थ्य को बेहतर बनाने में मदद करते हैं। यह मोटापे के जोखिम को कम करने का असरदार तरीका है जो आपको कई तरह की बीमारियों से बचा सकता है।
संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए लाभकारी
योग को विशेषज्ञ, संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए अत्यंत लाभकारी मानते आ रहे हैं। शारीरिक और मानसिक फिटनेस के साथ योग की आदत नींद की गुणवत्ता में सुधार करने, तनाव कम करने, लाइफस्टाइल की कई बीमारियों के जोखिम से आपको बचाने में सहायक है। बच्चों से लेकर बुजुर्गों तक सभी के लिए दैनिक जीवन में योगाभ्यास को शामिल करना विशेष लाभकारी हो सकता है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta