Top
लाइफ स्टाइल

कोरोना महामारी के चलते दुनियाभर में तनाव का स्तर बढ़ा है इस आयु के वर्गों को सबसे ज्यादा घेरा

Tulsi Rao
10 Jun 2021 5:03 PM GMT
कोरोना महामारी के चलते दुनियाभर में तनाव का स्तर बढ़ा है इस आयु के वर्गों को सबसे ज्यादा घेरा
x
वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार, कोरोना महामारी के इस समय में तनाव से बचने के लिए अपने डेली रुटीन को रोजाना एक जैसा रखें. सुबह उठने का समय नियत रखें.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। कोरोना महामारी का दौर लंबे समय से चल रहा है. जिसके चलते दुनियाभर में तनाव का स्तर बढ़ा है. अर्थव्यवस्था पर बोझ पड़ रहा है, लोगों को आर्थिक परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है और लोग एक डर में जी रहे हैं. ऐसे में लगभग सभी लोग इस तनाव का सामना कर रहे हैं लेकिन जिस आयु वर्ग को तनाव ने सबसे ज्यादा घेरा है वो हैं किशोर. एक रिसर्च में यह बात सामने आई है.

द लैंसेट में छपी रिपोर्ट

मशहूर हेल्थ जर्नल द लैंसेट साइकियाट्री में छपे एक अध्ययन के अनुसार, कोरोना महामारी के चलते 13-18 आयु वर्ग के लड़कों और लड़कियों में तनाव का स्तर सबसे ज्यादा पाया गया है. अध्ययन में ये भी पता चला है कि महामारी ने लड़कियों के मानसिक स्वास्थ्य पर ज्यादा असर डाला है.
इस अध्ययन में शोधकर्ताओं ने 59 हजार प्रतिभागियों को शामिल किया. प्रतिभागियों से पूछा गया कि वह वर्तमान में कैसा महसूस कर रहे हैं और किसी मादक पदार्थ का सेवन कर रहे हैं या नहीं. इसके बाद शोधकर्ताओं ने किशोरों के मानसिक स्वास्थ्य पर किए गए पूर्व के अध्ययनों से तुलना की, जिसमें पता चला कि कोरोना के चलते किशोरों में तनाव का स्तर बढ़ा है.

कैसे करें तनाव को नियंत्रित
वर्ल्ड हेल्थ ऑर्गेनाइजेशन के अनुसार, कोरोना महामारी के इस समय में तनाव से बचने के लिए अपने डेली रुटीन को रोजाना एक जैसा रखें. सुबह उठने का समय नियत रखें. हेल्दी खाना खाएं और रेगुलर एक्सरसाइज करें. साथ ही डब्लूएचओ की सलाह है कि न्यूज देखने में कम समय दें. दरअसल महामारी के चलते आजकल काफी ऐसी खबरें आ रही हैं, जिससे तनाव बढ़ सकता है. अपने दोस्तों और नाते-रिश्तेदारों के साथ समय बिताएं. डब्लूएचओ ने लोगों को एल्कोहल और ड्रग आदि से भी दूर रहने की सलाह दी है.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it