जम्मू और कश्मीर

निवेश की सबसे खूबसूरत जगह बन सकती है घाटी: उप राज्यपाल मनोज सिन्हा

Renuka Sahu
23 March 2022 3:06 AM GMT
निवेश की सबसे खूबसूरत जगह बन सकती है घाटी: उप राज्यपाल मनोज सिन्हा
x

फाइल फोटो 

उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर दुनिया की जन्नत है और इस जन्नत को निवेश की दृष्टि से सबसे खूबसूरत जगह बनाया जा सकता है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। उप राज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि जम्मू-कश्मीर दुनिया की जन्नत है और इस जन्नत को निवेश की दृष्टि से सबसे खूबसूरत जगह बनाया जा सकता है। निवेशक अब खुद आकर अस्पताल, स्वास्थ्य शिक्षा, रियल एस्टेट, आतिथ्य, खाद्य प्रसंस्करण, कोल्ड स्टोरेज क्षेत्र में संभावनाएं देख रहे हैं। इससे कारोबार और रोजगार के अवसर बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि बागवानी उत्पाद, हस्तशिल्प के लिए वैश्विक स्तर पर प्रयास किए जा रहे हैं।

उप राज्यपाल एसकेआईसीसी श्रीनगर में मंगलवार को खाड़ी देशों के प्रतिनिधिमंडल के लिए आयोजित निवेशक सम्मेलन को संबोधित कर रहे थे।
उपराज्यपाल ने कहा, प्रदेश में छह दशक में कुल 15 हजार करोड़ निवेश हुआ था। केंद्रीय पैकेज मिलने के बाद 27 हजार करोड़ के निवेश को मंजूरी दी जा चुकी है। अगले छह माह में निवेश का आंकड़ा 70 हजार करोड़ तक पहुंचने की उम्मीद है। इससे रोजगार के छह से सात लाख अवसर सृजित होंगे।
उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर व्यापक सुधार की प्रक्रिया से गुजर रहा है। बाहरी निवेश होने के नतीजे जल्द सामने आने लगेंगे। उन्होंने कहा कि पिछले दो वर्ष में जम्मू-कश्मीर में बड़े स्तर पर बदलाव हुआ है। निवेश और औद्योगिक कारोबार के क्षेत्र में केंद्र ने 28,200 करोड़ रुपये का पैकेज दिया, जिससे निवेशक आकर्षित होने लगे हैं।
उपराज्यपाल ने कहा कि मोदी सरकार बनने से भारत और यूएई के बीच दोस्ती के माहौल का नया अध्याय शुरू हुआ है। दुबई एक्सपो में यूएई की कई अंतरराष्ट्रीय कंपनियों ने जम्मू-कश्मीर में दूरगामी निवेश की घोषणाएं कीं। प्रदेश प्रशासन ने कारोबारियों को प्रदेश में आने का न्योता दिया था।
निवेशक बोले- यहां सौ फीसदी संभावनाएं, जल्द लेंगे फैसला
खाड़ी देशों से निवेश की संभावनाएं देखने कश्मीर घाटी पहुंचे प्रतिनिधिमंडल प्रदेश की खूबसूरती के मुरीद हो गए हैं। कश्मीर को धरती की जन्नत करार देते हुए निवेशकों ने कहा कि यहां निवेश की सौ फीसदी संभावनाएं हैं। हम यहां निवेश के लिए गंभीरता से विचार कर रहे हैं। इससे भारत और यूएई को फायदा होगा। इसका सबसे ज्यादा लाभ जम्मू-कश्मीर को होगा।
एसकेआईसीसी में निवेशक सम्मेलन में मौजूद एमीरेट्स इंटरनेशनल इनवेस्टमेंट ग्रुप के सीईओ अब्दुल्ला मोहम्मद यूसुफ अब्दुल्ला अलशायबानी ने कहा कि यहां निवेश का बहुत बड़ा अवसर है। जम्मू-कश्मीर के लोग हमारे अपने परिवार जैसे हैं। हम यहां खुद को बेहद महफूज महसूस कर रहे हैं। रियल एस्टेट, आतिथ्य और कृषि समेत 27 क्षेत्रों में काम कर रहीं कंपनियों के सीईओ अलशायबानी ने कहा कि सभी सदस्य निवेश के लिए उत्साहित हैं।
जब उनसे पूछा गया कि क्या वे निवेश के लिए वाकई गंभीर हैं तो उन्होंने कहा कि वे यहां समय बर्बाद करने नहीं आए हैं। हम यहां कुछ करने आए हैं। हमने एक कदम उठाया है और जल्द ही अगला कदम भी चलेंगे। उन्होंने कहा कि जम्मू-कश्मीर में निवेश की सौ फीसदी संभावनाएं हैं।
प्रतिनिधिमंडल के एक अन्य सदस्य और सेंचुरी फाइनेंशियल ग्रुप के सीईओ बाल कृष्ण ने कहा कि प्रतिनिधिमंडल स्पष्ट सोच के साथ जम्मू-कश्मीर आया है। प्रतिनिधिमंडल के सदस्य यहां निवेश करने और रोजगार पैदा करने की शुद्ध और स्पष्ट सोच के साथ आए हैं।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta