लाइफ स्टाइल

पहली बार ध्यान लगाने की कोशिश करने वाले ये कुछ बातें जरूर समझ लें

Akansha
7 April 2022 1:15 PM GMT
पहली बार ध्यान लगाने की कोशिश करने वाले ये कुछ बातें जरूर समझ लें
x
विशेषज्ञ कहते हैं कि तनाव को बेहतर बनाने वाला यह अभ्यास करते-करते आता है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। पहली बार ध्यान लगाने (Meditation) की कोशिश करने वाले 99 फीसदी लोगों का कहना होता है कि उनसे ध्यान लगता ही नहीं। विशेषज्ञ कहते हैं कि तनाव (Stress) को दूर करने और मानसिक स्वास्थ्य (Mental Health) को बेहतर बनाने वाला यह अभ्यास करते-करते आता है। इसलिए इस बात से कभी भी परेशान ना हो कि ध्यान लगाना शुरुआत में मुश्किल है। इसके लिए कुछ बातें समझ लें।

ध्यान लगाने से पहले
सबसे पहले घर में एक ऐसी जगह या कमरा ढूंढें जिसमें दरवाजे और खिड़कियां हों, हवा आर-पार आती जाती हो, लेकिन शोर-शराबा ना हो। वहां हल्का-सा प्राकृतिक प्रकाश आए तो बहुत अच्छा है। अगर ऐसा संभव ना हो तो हल्के सफेद या हल्के पीले प्रकाश में बैठें। इसके बाद एक छोटी-सी चटाई लें, अगर चटाई पर बैठने में कोई दिक्कत हो तो लकड़ी की कुर्सी ले सकते हैं। कुर्सी या चटाई पर अच्छी तरह से बैठें। जो भी आसन चुनें, यह सोचकर कि उसमें आप 25 से 30 मिनट सहजता से बैठ पाएंगे। जब भी ध्यान करने की सोचें तो ऐसे समय को चुनें, जब दूसरे दैनिक कार्यों को करने का दबाव ना हो। इस समय फोन को पूरी तरह से बंद कर दें।
ऐसे करें शुरुआत
अब आरामदायक स्थिति में बैठ जाएं। बैठने के बाद कंधों को ढीला छोड़ें। सांस लें और सांस लेते हुए अपने कंधों को कान की ऊंचाई तक ऊपर ले जाने की कोशिश करें। फिर धीरे-धीरे सांस छोड़ें कंधे वापस अपनी जगह पर आ जाएंगे। इस दौरान कमर को बिल्कुल सीधा रखें और हाथ अपनी गोद में रखें। आंखें मूंद लें और शून्य में ध्यान लगाएं। इस दौरान बायां हाथ दाएं हाथ में हो और हथेली ऊपर की तरफ हो, बाएं हाथ का अंगूठा इस दौरान दाएं हाथ के अंगूठा पर इस तरह होना चाहिए। मानो आप किसी छोटी-सी चीज को हथेलियों की गोद में झूला झुला रहे हों। कुछ मिनटों के बाद आपकी आंखों के सामने शून्य में एक वृत्त बनता दिखेगा। आपको धीरे-धीरे इसमें अंदर जाने और डूबने का अहसास होगा। इस पूरी प्रक्रिया के दौरान हल्की-सी बेहोशी या निद्रा का आभास होगा। लेकिन शरीर को पूरी तरह से निष्क्रिय रखें, चैतन्य होने का बिल्कुल प्रयास ना करें।
एक बिंदु पर हों केंद्रित
कुछ लोगों को समझ में नहीं आता कि ध्यान किस चीज पर लगाएं? आप कहीं पर भी ध्यान लगा सकते हैं। किसी पेड़ पर, किसी पक्षी पर, शून्य पर या किसी भी जगह और इसमें ध्यान केंद्रित करने की कोशिश करें। जिनको यह समझ में ना आता हो कि कहां ध्यान लगाएं, उन्हें अपने सामने की खाली दीवार पर एकटक देखते हुए नजर गड़ा देनी चाहिए। एक बात को बहुत अच्छी तरह से जान लें कि सही तरीके से शांत बैठने और संतुलित ढंग से सांस लेने की कोशिश ही ध्यान है। अगर ध्यान लगाने की कोशिश में मन भटकता हो तो 10 से उल्टी गिनती गिनना शुरू करें और फिर अपना ध्यान गिनतियों की ओर लगाएं। अगर शुरू में ध्यान में बैठने का समय 10 से 15 मिनट भी रहता है तो भी बुरा नहीं है, लेकिन इसे बढ़ाया जाना जरूरी है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta