लाइफ स्टाइल

हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी में फायदेमंद हैं ये योग

Khushboo Dhruw
16 May 2024 1:48 AM GMT
हाई ब्लड प्रेशर की परेशानी में फायदेमंद हैं ये योग
x
लाइफस्टाइल : उच्च रक्तचाप या हाई ब्लड प्रेशर आपकी धमिनियों (arteries) में बहने वाले रक्त का दबाव कहलाता है। उच्च रक्तचाप हो या निम्न रक्तचाप दोनों हमारे शरीर के लिए नुकसानदायक हैं क्योंकि शरीर में संतुलन बहुत ही आवश्यक हैं। उच्च रक्तचाप एक खतरनाक स्थिति है जो आपके दिल को नुकसान पहुंचा सकती है। हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए योग किसी उपचार से कम नहीं है। तो आज हम कुछ ऐसे योग आसनों के बारे में जानेंगे, जो हाई बीपी के मरीजों के लिए बेहद फायदेमंद हैं।
हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए फायदेमंद आसन
उत्तानासन
उत्तानासन एक एंटी-ग्रैविटी पोज है, जिसे करने से सिर की ओर ब्लड का सर्कुलेशन बढ़ता है। शरीर के साथ दिमाग शांत होता है, ब्लड प्रेशर भी नॉर्मल रहता है।
कैसे करें उत्तानासन?
उत्तानासन करने के लिए सबसे पहले योगा मैट पर सीधे खड़े हो जाएं।
दोनों पैरों को एक साथ रखें और दोनों हाथों को ऊपर सीधा फैलाएं।
सांस भरते हुए हाथों को ऊपर उठाएं और सांस छोड़ते हुए नीचे की ओर झुकें।
दोनों हाथों से पैर के पंजों को छूने की कोशिश करें।
इस आसन में कम से कम 60 सेकंड तक बने रहने की कोशिश करें फिर नॉर्मल पोजिशन में आ जाएं।
अधोमुख श्वान आसन
अधोमुख श्वान आसन भी हाई ब्लड प्रेशर के मरीजों के लिए बहुत ही अच्छा आसन है। इसे करने से शरीर में ब्लड का सर्कुलेशन सही तरीके से होता है। साथ ही ब्लड प्रेशर को भी कंट्रोल में रखता है।
कैसे करें अधोमुख श्वान आसन?
इस आसन को करने के लिए सबसे पहले एक मैट पर सीधे खड़े हो जाएं।
अपने दोनों पैरों के बीच में थोड़ा सा गैप रखें।
अब आगे की ओर झुकते जाएं अपने दोनों हाथों को जमीन पर रखें।
आपके पैर और सीने के बीच 90 डिग्री का कोण बनना चाहिए।
अधोमुख श्वान आसन को 2-3 मिनट रूके रहें।
जानु शीर्षासन
जानुशीर्षासन योग उच्च रक्तचाप की परेशानी में काफी फायदेमंद है। जो दिमाग को शांत करता है और पाचन संबंधी दिक्कतें भी दूर करता है।इसके अलावा यह आसन रीढ़, कंधे, पैरों के पिछले हिस्से और कमर को फैलाता है।
कैसे करें जानुशीर्षासन?
जानुशीर्षासन करने के लिए आप किसी साफ स्थान पर योगा मैट को बिछा के दोनों पैरों को सामने की ओर सीधा करके बैठ जाएं।
अब अपने दाएं पैर को मोड़ के बाएं पैर की जांघ पर रखें।
अपने दोनों हाथों को ऊपर की ओर करें सीधा खड़ा करें।
अब अपने ऊपर के शरीर को बाएं पैर की ओर नीचे झुकाएं और बाएं पैर के पंजें को पकड़ लें।
अपने सिर को बाएं पैर के घुटने पर रख लें। इस मुद्रा में रहते हुयें 5 से 10 बार सांस लें।
सुखासन
सुखासन योग को ईजी पोज़ भी कहा जाता है यह एक ध्यान मुद्रा है। जो मन और शरीर दोनों को शांत करने का काम करती है। सुखासन योग के फायदे हाई ब्‍लड प्रेशर के लिए भी होते हैं। यह आसन तंत्रिका तंत्र पर काम करता है और इसकी क्रिया को नियंत्रित करता है। यह उच्च रक्तचाप को कम करने में सहायता करता है।
कैसे करें सुखासन?
इस आसन को करने के लिए आप एक योगा मैट को जमीन पर बिछा के बैठ जाएं, अपने पैरों को घुटनों के यहाँ से मोड़ लें एक पैर बाहर की ओर तथा दूसरा पैर अन्दर के ओर रखें।
अपनी रीढ़ की हड्डी को सीधा रखें और दोनों हाथों को सीधा करके अपने घुटनों पर रख लें, आखों को बंद करके ध्यान करें। इस आसन में आप अपनी इच्छा के अनुसार रह सकते हैं।
Next Story