Top
लाइफ स्टाइल

डायबिटीज के शिकार तो करे इस योगासन से मिलेगा लाभ

Nidhi Singh
22 July 2021 9:58 AM GMT
डायबिटीज के शिकार तो करे इस योगासन से मिलेगा लाभ
x
शरीर को पूरी तरह से स्वस्थ औऱ सक्रिय बनाए रखने के लिए दैनिक रूप से योग करने पर जोर दिया जाता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि योग में कई आसन ऐसे हैं जो न सिर्फ शारीरिक, बल्कि मानसिक रूप से भी आपके स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकते हैं

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। शरीर को पूरी तरह से स्वस्थ औऱ सक्रिय बनाए रखने के लिए दैनिक रूप से योग करने पर जोर दिया जाता है। स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि योग में कई आसन ऐसे हैं जो न सिर्फ शारीरिक, बल्कि मानसिक रूप से भी आपके स्वास्थ्य को बढ़ावा दे सकते हैं। प्राणायाम, एक ऐसा ही योग अभ्यास है जो हमारे शरीर की हर कोशिका को ऊर्जा से भर देता है। प्राणायाम,

संस्कृत का शब्द है जिसका अर्थ है 'जीवन शक्ति की महारत'।

योग विज्ञान के अनुसार, प्राणायाम का नियमित अभ्यास आवश्यक है। इस योग के माध्यम से जीवन शक्ति को बढ़ाने का प्रयास किया जाता है। चूंकि यह योगासन सांस के अभ्यास से संबंधित है, ऐसे में इसे शरीर के सभी अंगों के लिए लाभदायक माना जाता है। योग के लाभ के बारे में स्वास्थ्य विशेषज्ञों का कहना है कि शरीर के संपूर्ण स्वास्थ्य के लिए हर अंग तक पर्याप्त मात्रा में ऑक्सीजन का संचार होना आवश्यक होता है और यह योग इस कार्य को और भी आसान बना देती है।

आइए आगे की स्लाइडों में जानते हैं कि नियमित रूप से प्रणायाम का अभ्यास करने से आपको किस-किस तरह से लाभ प्राप्त हो सकता है?

समग्र स्वास्थ्य के लिए लाभदायक है प्राणायाम का अभ्यास

स्वास्थ्य विशेषज्ञों के मुताबिक प्राणायाम शरीर में 80,000 से अधिक नसों को शुद्ध करने में सहायक अभ्यास माना जाता है। चूंकि यह शरीर में ऊर्जा के प्रवाह को संतुलित करता है, ऐसे में प्राणायाम हमारे समग्र स्वास्थ्य को प्रभावित करता है। विशेषज्ञ, प्रतिदिन प्राणायाम के अभ्यास की सलाह देते हैं। माना जाता है कि इसका निरंतर अभ्यास शरीर के साथ मन को भी स्वस्थ और रोगमुक्त रखने में सहायक हो सकता है।

पाचन तंत्र और त्वचा को स्वस्थ रखने में सहायक

प्राणायाम व्यक्ति की जीवन शक्ति को बढ़ाने वाला योग अभ्यास माना जाता है। प्राणायाम एक ऐसा अभ्यास है जो आपको शारीरिक फिटनेस हासिल करने में मदद कर सकता है। चूंकि, यह अभ्यास शरीर के सभी अंगों तक ऑक्सीजन के संचार को बढ़ावा देने में सहायक है, इसलिए इसके कई अविश्वसनीय लाभ हो सकते हैं। प्राणायाम पाचन तंत्र को संतुलित करने के साथ त्वचा को प्राकृतिक चमक प्रदान करता है।

मानसिक स्वास्थ्य को ठीक करता है प्राणायाम का अभ्यास

जब बात एकाग्रता और स्मृति को बढ़ाने के साथ तनाव कम करने की हो रही हो तब प्राणायाम बेहद लाभकारी हो सकता है। प्राणायाम, मस्तिष्क की नसों को आराम दिलाने में सहायक माना जाता है जिससे शरीर में ऑक्सीजन की आपूर्ति को बढ़ावा मिलता है। यह शरीर में ब्लड सर्कुलेशन बढ़ता है जिससे मानसिक तनाव की समस्या आसानी से दूर करने में मदद मिलती है।

धुमेह और अवसाद के रोगियों के लिए फायदेमंद

कई गंभीर रोगों के उपचार में भी प्राणायाम को लाभदायक माना जाता है। जिन लोगों को उच्च रक्तचाप की समस्या है, उनके लिए प्राणायाम एक आदर्श अभ्यास हो सकता है। चूंकि उच्च रक्तचाप की स्थिति में ब्लड प्रेशर तेज गति से बढ़ जाता है ऐसे में प्राणायाम इसे नियंत्रित करने में सहायक हो सकता है। चूंकि प्राणायाम एक ध्यान अवस्था है ऐसे में यह मन को शांत करता है। प्राणायाम के नियमित अभ्यास से रक्तचाप के साथ-साथ मधुमेह और अवसाद जैसी गंभीर समस्याओं में भी मदद मिल सकती है।

नोट: यह लेख योगगुरु के सुझावों के आधार पर तैयार किया गया है।

अस्वीकरण: अमर उजाला की हेल्थ एवं फिटनेस कैटेगरी में प्रकाशित सभी लेख डॉक्टर, विशेषज्ञों व अकादमिक संस्थानों से बातचीत के आधार पर तैयार किए जाते हैं। लेख में उल्लेखित तथ्यों व सूचनाओं को अमर उजाला के पेशेवर पत्रकारों द्वारा जांचा व परखा गया है। इस लेख को तैयार करते समय सभी तरह के निर्देशों का पालन किया गया है। संबंधित लेख पाठक की जानकारी व जागरूकता बढ़ाने के लिए तैयार किया गया है। अमर उजाला लेख में प्रदत्त जानकारी व सूचना को लेकर किसी तरह का दावा नहीं करता है और न ही जिम्मेदारी लेता है। उपरोक्त लेख में उल्लेखित संबंधित बीमारी के बारे में अधिक जानकारी के लिए अपने डॉक्टर से परामर्श लें।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it