विश्व

अंंतरिक्ष में सफलतापूर्वक काम कर रहा पेट्रोल पंप का प्रोटोटाइप, सैटलाइट को देता है ईंधन

Gulabi
15 Sep 2021 9:55 AM GMT
अंंतरिक्ष में सफलतापूर्वक काम कर रहा पेट्रोल पंप का प्रोटोटाइप, सैटलाइट को देता है ईंधन
x
दुनिया के 4 हजार से ज्‍यादा उपग्रहों का घर बन चुका धरती का परिक्रमा पथ अब 'पेट्रोल पंप' से भी लैस हो गया है

वॉशिंगटन: दुनिया के 4 हजार से ज्‍यादा उपग्रहों का घर बन चुका धरती का परिक्रमा पथ अब 'पेट्रोल पंप' से भी लैस हो गया है। अमेरिका के सैन फ्रांसिस्‍को स्थित एक स्‍टार्टअप आर्बिट फैब ने जून में पृथ्‍वी की कक्षा में ईंधन भरने के स्‍टेशन का एक प्रोटोटाइप लॉन्‍च किया था। यह 'पेट्रोल स्‍टेशन' अब अच्‍छे से काम कर रहा है। इस सफलता से अब पुराने पड़ चुके उपग्रहों को नया जीवनदान मिलने की उम्‍मीद है।

वह भी तब जब धरती की निचली कक्षा में अभी इस दशक के अंत तक उपग्रहों की संख्‍या के 1 लाख के आंकड़े को भी पार करने की उम्‍मीद है। यही नहीं इसकी मदद से अब अंतरिक्ष में और दूर तक अंतरिक्षयात्रियों के सफर करने का रास्‍ता खुल सकता है। अंतरिक्ष में पेट्रोल पंप को बनाने वाली कंपनी ऑर्बिट फैब (Orbit Fab) को इस शानदार सफलता के बाद एक करोड़ डॉलर की फंडिंग भी हाथ लगी है।
सैटलाइट ईंधन टैंकर का प्रोटोटाइप तेनजिंग
अंतरिक्ष में पेट्रोल पंप का विचार इसलिए भी महत्‍वपूर्ण है क्‍योंकि धरती का परिक्रमा पथ अब हजारों सैटलाइट और उसके कचड़े से भरता जा रहा है। इससे उनके आपस में टक्‍कर का खतरा बढ़ता जा रहा है। ऑर्बिट फैब कंपनी का टैंकर Tenzing Tanker-001 एक शुरुआती सैटलाइट ईंधन टैंकर का प्रोटोटाइप है। इसे एलन मस्‍क के रॉकेट से 30 जून को लॉन्‍च किया गया था।
तेनजिंग टैंकर के प्रोटोटाइप को इस तरह से डिजाइन किया गया है कि उससे सैटलाइट जुड़ सकें और वह अपना रास्‍ता खुद बदल सके। यह माइक्रोवेब के आकार की मशीन अभी सूरज के समकालिक परिक्रमा पथ पर है। इसी परिक्रमा पथ में ज्‍यादातर मौसम और तस्‍वीरें लेने वाले सैटलाइट मौजूद हैं और धरती के चक्‍कर लगा रहे हैं। ऑर्बिट फैब के सीईओ डेनिअल फेबेर ने कहा कि हम दुनिया पहला संचालन योग्‍य सैटलाइट ईंधन डिपो बना रहे हैं।
अभी वास्‍तविक रूप से सैटलाइट में ईंधन भरा जाना बाकी
फेबेर ने कहा कि कोई भी स्‍पेस में ईंधन इसलिए नहीं खरीद रहा है क्‍योंकि वहां कोई बेच नहीं रहा है। हमने एक पेट्रोल पंप बना लिया है। यह प्रोटोटाइप टैंकर अभी शुरुआती दौर में है और अभी वास्‍तविक रूप से सैटलाइट में ईंधन भरा जाना बाकी है। उन्‍होंने कहा कि हमने टैंकर को इसलिए परिक्रमा पथ में भेजा है ताकि हम विभिन्‍न परिक्रमा में ईंधन को भरने की अपनी प्रतिबद्धता को दिखा सकें।
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it