विश्व

ब्रिटेन के सबसे बड़े व्यक्ति दिवालिया घोषित, बेटी की शादी में कर चुके है 500 करोड़ खर्च

Neha Dani
22 Oct 2020 2:33 AM GMT
ब्रिटेन के सबसे बड़े व्यक्ति दिवालिया घोषित, बेटी की शादी में कर चुके है 500 करोड़ खर्च
x
ब्रिटेन के 19वें सबसे अमीर व्यक्ति लक्ष्मी मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर कथित तौर पर 2.5 बिलियन पाउंड (करीब 24,224 करोड़ रुपये) का बकाया है|

जनता से रिश्ता वेबडेस्क| Britain, eldest, person, bankrupt, declared, daughter, marriage, 500 million, expenses,ब्रिटेन के 19वें सबसे अमीर व्यक्ति लक्ष्मी मित्तल के भाई प्रमोद मित्तल पर कथित तौर पर 2.5 बिलियन पाउंड (करीब 24,224 करोड़ रुपये) का बकाया है जिससे वह देश के सबसे बड़े दिवालिया बनने की राह पर हैं. एक समय था जब उन्होंने अपनी बेटी की शादी में करीब 50 मिलियन पाउंड यानी 500 करोड़ रुपये खर्च किए थे.

उनका दावा है कि अब उनके पास कोई आय नहीं है और उनके पास संपत्ति के नाम पर 7,000 पाउंड (67,83,387 रुपये) की ज्वैलरी, 66,669 पाउंड (64,60,595 रुपये) के शेयर और भारत में 45 पाउंड (4,300 रुपये) में खरीदी गई संपत्ति है. साथ ही उन्होंने दावा किया है कि उन पर अपने 94 साल के पिता से 170 मिलियन पाउंड (करीब 16 अरब, 47 करोड़ रुपये), पत्नी संगीता से 1.1 मिलियन पाउंड (करीब साढ़े 10 करोड़), अपने 30 वर्षीय बेटे दिव्येश से 2.4 मिलियन पाउंड (करीब साढ़े 23 करोड़) और अपने बहनोई अमित लोहिया पर 1.1 मिलियन पाउंड (करीब साढ़े 10 करोड़) का बकाया है.

64 वर्षीय व्यवसायी का यह भी दावा है कि उनका पारिवारिक घर एक ऑफशोर कंपनी के नाम पर है, जिसमें उनका "कोई वित्तीय हित नहीं" है.

अपने बेहिसाब खर्च के लिए पहचाने जाने वाले प्रमोद मित्तल वही शख्स हैं, जिन्होंने 2013 में अपनी बेटी श्रृष्टि की डच मूल के इन्वेस्टमेंट बैंकर गुलराज बहल के साथ शादी में 50 मिलियन पाउंड (करीब 500 करोड़ रुपये) का खर्च किया था, जो कि उनके बड़े भाई लक्ष्मी मित्तल की अपनी बेटी वनिशा की शादी में हुए खर्च से 10 मिलियन पाउंड अधिक रहा. लक्ष्मी मित्तल की बेटी वनिशा की शादी 2004 में पैलेस ऑफ वर्साय में हुई थी. हालांकि ऐसा बताया गया है कि लक्ष्मी मित्तल इस बार अपने भाई की मदद नहीं कर रहे हैं.

प्रमोद मित्तल के लिए मुश्किल भरे दिन की शुरुआत 14 साल पहले उस समय शुरू हो गई थी जब उन्होंने एक बोस्नियाई कोक निर्माता कंपनी GIKIL के ऋणों के लिए गारंटर बनने की सहमति दी. उनकी कंपनी ग्लोबल स्टील होल्डिंग्स ने GIKIL के ऋणों के गारंटर के रूप में हस्ताक्षर कर दिया और बाद में कंपनी दिवालिया हो गई. फिर GIKIL लंदन में स्टील के इस व्यवसायी को गारंटर फर्म का पैसा लौटा नहीं सकी.

मूरगेट इंडस्ट्रीज नाम की कंपनी ने इस लोन को चुकाया और बाद में इसी कंपनी के पक्ष में बैंकरप्टी ऑर्डर गया. मूरगेट इंडस्ट्रीज के एक बयान के अनुसार, प्रमोद मित्तल तय समय तक भुगतान करने में नाकाम रहे जिसके बाद दिवालिया की ये कार्रवाई शुरू की गई.

इस साल जून में कोर्ट ने इंटरेस्ट के साथ 139,786,656.43 पाउंड (13,54,68,09,926 रुपये) के लिए प्रमोद मित्तल के खिलाफ दिवालिया आदेश जारी किया. इसके अतिरिक्त, बोस्नियाई मामले में उनके खिलाफ जांच की गई जिसमें उन्हें धोखाधड़ी के मामले में शामिल होने का आरोप लगा और उन्हें गिरफ्तार कर लिया गया, लेकिन बाद में 1 मिलियन पाउंड की जमानत पर रिहा कर दिया गया. जांच अभी जारी है.

स्टील किंग लक्ष्मी मित्तल के छोटे भाई प्रमोद मित्तल ने अपने लेनदारों को उनके द्वारा दिए गए प्रत्येक पाउंड के लिए 0.18 पैसे भुगतान करने का प्रस्ताव दिया है.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta