Top
विश्व

जापान की सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी ने की घोषणा, 14 सितंबर को आबे के उत्तराधिकारी का चुनाव करेगी

Janta se Rishta
2 Sep 2020 11:56 AM GMT
जापान की सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी ने की घोषणा, 14 सितंबर को आबे के उत्तराधिकारी का चुनाव करेगी
x

जनता से रिश्ता वेबडेस्क|टोक्‍यो,समाचाार एजेंसी सिन्‍हुआ की रिपोर्ट के मुताबिक जापान की सत्तारूढ़ लिबरल डेमोक्रेटिक पार्टी (एलडीपी) ने बुधवार को घोषणा की कि वह 14 सितंबर को मतदान के जरिए निवर्तमान प्रधानमंत्री शिंजो आबे के उत्तराधिकारी का चयन करेगी। 8 सितंबर से पार्टी के प्रमुख नेता प्रधानमंत्री की दौड़ में शामिल होंगे। इसके साथ ही जापान में सियासत तेज हो गई है। बता दें गत सप्‍ताह प्रधानमंत्री आबे ने खराब स्वास्थ्य और बीमारियों की वजह से अपने पद से इस्तीफा दे दिया था। इसके बाद से नए प्रधानमंत्री पद के लिए सियासत शुरू हो गई थी। इस दौरान अटकलों का बाजार गरम था।

पूर्व रक्षा मंत्री व पूर्व विदेश मंत्री भी रेस में आगे

जापान के पूर्व रक्षा मंत्री शिगेरु इशिबा का नाम प्रधानमंत्री की रेस में सबसे आगे बताया जा रहा है। इशिबा ने साल 2012 में पार्टी अध्यक्ष पद के चुनाव के पहले दौर में शिंजो आबे को हरा दिया था, जिसमें ग्रासरूट पर वोटिंग होती है, लेकिन सिर्फ सांसदों की वोटिंग वाले दूसरे दौर में वो हार गए थे। यही नहीं, साल 2018 में भी इशिबा को आबे के हाथों करारी हार झेलनी पड़ी थी। एलडीपी के नीति प्रमुख और पूर्व विदेश मंत्री फुमियो किशिदा ने भी चुनाव लड़ने के संकेत दिए है। आबे के मंत्रिमंडल में किशिदा साल 2012 से 2017 तक जापान के विदेश मंत्री रह चुके हैं। किशिदा जापान के हिरोशिमा से आते हैं और आबे के उत्तराधिकारी के तौर पर भी देखे जाते हैं। इस रेस में जापान के मुख्य कैबिनेट सचिव योशीहिदे सुगा भी शामिल हैं। बुधवार शाम को एक संवाददाता सम्मेलन में औपचारिक रूप से अपनी उम्मीदवारी की घोषणा करने वाले हैं। अन्य दावेदारों में पूर्व विदेश मंत्री फुमियो शिशिदा और पूर्व रक्षा मंत्री शिगेरु हैं। इशिबा, जिन्होंने मंगलवार को अपनी उम्मीदवारी की घोषणा की। प्रधानमंत्री बबने के लिए किसी भी नेता को पहले सत्तारूढ़ एलडीपी का अध्यक्ष बनना होगा।

खराब स्‍वास्‍थ्‍य के कारण आबे ने दिया थाा इस्‍तीफा

पेट की बीमारी से जूझ रहे जापान के सबसे लंबे समय तक प्रधानमंत्री रहने वाले आबे ने इस्तीफा दे दिया था। प्रधानमंत्री पद पर उनका कार्यकाल सितंबर 2021 तक था। शिंजो आबे अपने कार्यालय में 8 साल पूरे किए और वह जापान के सबसे ज्‍यादा समय तक रहने वाले प्रधानमंत्री बन गए थे। इससे पहले यह रिकॉर्ड उनके चाचा इसाकु सैतो के नाम था। आबे के इस्‍तीफे के बाद से जापान के नए प्रधानमंत्री के लिए रेस शुरू हो गई है।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it