उत्तराखंड

शिक्षकों की कमी से खाली हो रहे हैं सरकारी स्कूल

Admin Delhi 1
20 Nov 2022 10:30 AM GMT
शिक्षकों की कमी से खाली हो रहे हैं सरकारी स्कूल
x

भीमताल: सरकार एक ओर तो सरकारी स्कूलों में शिक्षा का स्तर सुधारने की बात कर रही है, वहीं दूसरी ओर शिक्षकों की भारी कमी से जूझ रहे स्कूलों से धीरे-धीरे लोग अब अपने बच्चो के बेहतर भविष्य के लिए निजी स्कूलों का रुख करने लगे है। जिसके चलते सरकारी स्कूलों में छात्रों की संख्या हर वर्ष कम होती जा रही है। नैनीताल जनपद भीमताल विधानसभा धारी ब्लॉक के राजकीय पूर्व माध्यमिक विद्यालय कनर्खा में छठी सातवीं व आठवीं की कक्षा में कुल 29 छात्र- छात्राएं पढ़ती हैं लेकिन यहां सभी विषय पढ़ाने के लिए मात्र एक शिक्षिका उपलब्ध है। वहीं भीमताल ब्लॉक के जंगलिया गांव के स्कूल में भी अनेक प्रयासों के बावजूद सालों से विज्ञान की कक्षाएं शुरू नहीं हो पाई हैं। जनपद के ओखलकांडा, धारी व भीमताल ब्लॉक के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रो में कई स्कूल ऐसे भी हैं जंहा पर शिक्षक सप्ताह में एक-दो बार ही पहुंचते है।

बता दें कि राज्य स्थापना दिवस के मौके पर कैबिनेट मंत्री धन सिंह रावत ने अल्मोड़ा में एक कार्यक्रम के दौरान कहा कि जल्द ही प्रदेश में 5000 शिक्षकों की नियुक्तियां की जाएंगी जिसके बाद अब उम्मीद लगाई जा रही है कि शिक्षकों की कमी से जूझ रहे भीमताल ब्लॉक के दूरस्थ ग्रामीण क्षेत्रों के स्कूलों में भी शिक्षकों की नियुक्तियां की जाएंगी।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta