उत्तर प्रदेश

बर्खास्त सिपाही कानपुर से कार चुरा कर भागा, बस्ती में हुआ गिरफ्तार

Admin Delhi 1
13 Nov 2022 9:35 AM GMT
बर्खास्त सिपाही कानपुर से कार चुरा कर भागा, बस्ती में हुआ गिरफ्तार
x

क्राइम न्यूज़: कानपुर से कार चोरी कर भागे पुलिस की वर्दी पहने चोर को बस्ती पुलिस ने उसके साथी समेत शनिवार को गिरफ्तार कर लिया। 8 नवंबर की रात कानपुर से चोरी हुई कार फोरलेन के रास्ते अयोध्या से गोरखपुर की तरफ तेजी से निकलने की सूचना पर अलर्ट हुई बस्ती पुलिस ने हाइवे पर जगह-जगह बैरिकेडिंग कराकर दोनों को दबोचा। वर्दीधारी बर्खास्त सिपाही है। दोनों जालौन के रहने वाले हैं। बस्ती जिले में शनिवार सुबह करीब साढ़े दस बजे वाहन चोरी की सूचना पहुंची। इसके बाद थानाध्यक्ष छावनी दुर्गेश पाण्डेय ने चौकड़ी टोल पर मौजूद पुलिसकर्मियों को लाल रंग की आई10 को रोकने को कहा। इसी बीच यह कार पहुंची तो वर्दीधारी ड्राइवर दिखा। रोकने पर टोल के बैरियर को टक्कर मारकर आगे भागने लगा।

इधर थाना प्रभारी हर्रैया शैलेश कुमार सिंह भी टीम भी सक्रिय हो गई। छावनी व हर्रैया पुलिस के बीच में पड़ने पर कार को फोरलेन से रामजानकी मार्ग पर मोड़ दिया। बेलाड़े शुक्ल गांव में गाड़ी एक मकान के बगल में छोड़ने के बाद कार सवार ने वर्दी उतारकर सादे कपड़े पहन लिए। पुलिस टीम को देखकर नहर के बगल झाड़ी में जाकर छिप गए। छावनी व हर्रैया पुलिस ने घेराबंदी कर ग्रामीणों की मदद से दोनों को पकड़ लिया। हर्रैया थाने पर सीओ हर्रैया शेषमणि उपाध्याय पहुंच गए और धरपकड़ की जानकारी दी। उन्होंने बताया कि यह कार फैजाबाद रौनाही में भी बैरियर तोड़ कर भाग निकली थी, जिसे लेकर अलर्ट जारी हुआ था। पुलिस के अनुसार दोनों की पहचान परवेज अहमद निवासी बघौड़ा, थाना उरई, जनपद जालौन और रिसायत अली निवासी सूर्यनगर कॉलोनी, उरई, जालौन के रूप में की गई। इनमें परवेज अहमद 1995 बैच का सिपाही है, जिसे चार साल पहले बर्खास्त किया जा चुका है। बताया जा रहा है कि झांसी में तैनाती के दौरान उस पर चोरी का आरोप लगा था। इस मामले में फरार होने के बाद उसे बर्खास्त किया गया था। पुलिस की वर्दी पहनकर परवेज अहमद ही गाड़ी चला रहा था।

धोखा देने के लिए नंबर प्लेट बदलते रहे: कानपुर के पांडव नगर काका देव निवासी रोहित शर्मा की कार (यूपी32 जीई 0078) काकादेव से 8 नवंबर 2022 की देर रात चोरी हुई थी। काकादेव थाना पुलिस केस दर्ज कर छानबीन में जुटी थी। पुलिस के अनुसार चोर कार नम्बर प्लेट बदल-बदल कर गाड़ी लेकर आगे बढ़ रहे थे। पहले गाड़ी पर यूपी32 एमके 7797 नंबर लगाया और बाद इसे बदलकर यूपी 32 एचके 7737 कर दिया था। धरपकड़ की जानकारी पाकर कानपुर पुलिस की एक टीम भी बस्ती के लिए रवाना हो गई है।

नैनीताल व कानपुर से चुराकर नेपाल में बेची थी गाड़ी: पुलिस के अनुसार कानपुर से 8 नवंबर को चोरी की गई कार नेपाल बेचने के लिए ले जाने की तैयारी थी। इसके लिए चोरों ने गोरखपुर के रास्ते नेपाल पहुंचने की योजना बनाई थी। आरोपी बर्खास्त सिपाही परवेज अहमद शातिर चोर बताया जा रहा है। उसके विरुद्ध कानपुर सहित अन्य जनपदों में मुकदमों की जानकारी जुटाई जा रही है। प्रभारी निरीक्षक हर्रैया शैलेश सिंह के अनुसार बर्खास्त सिपाही ने कानपुर के कल्याणपुर थाना क्षेत्र से इनोवा चुराई थी। वह इस मामले में जेल गया था। जेल से रिहा होने के बाद नैनीताल उत्तराखंड में भी गाड़ी चुराने के आरोप में पकड़े जाने के बाद जेल में बंद रहा था। चोरी की गाड़ियों को नेपाल ले जाकर बेच देते थे। परवेज और उसके साथ पकड़े गए रिसायत अली की कुंडली खंगाली जा रही है। हर्रैया सीओ शेषमणि उपाध्याय ने बताया कि कानपुर से चोरी सूचना के बस्ती जनपद में प्रवेश की सूचना मिलते ही घेराबंदी शुरू कर दी गई। चौकड़ी टोल छावनी पर बैरियर तोड़कर भागने के बाद छावनी व हर्रैया थाने की संयुक्त टीम ने घेराबंदी कर कार सवार दोनों आरोपितों को दबोच लिया। दोनों से पूछताछ कर अन्य जानकारियां जुटाई जा रही हैं।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta