राजस्थान

करौली हिंसा के बाद अलवर के राजगढ़ में मंदिर टूटने और अब गोशाला ध्वस्त करने के मामले में भाजपा को घेर रही कांग्रेस

Gulabi Jagat
23 April 2022 2:09 PM GMT
करौली हिंसा के बाद अलवर के राजगढ़ में मंदिर टूटने और अब गोशाला ध्वस्त करने के मामले में भाजपा को घेर रही कांग्रेस
x
राजगढ़ में मंदिर टूटने और अब गोशाला ध्वस्त करने के मामले में भाजपा को घेर रही कांग्रेस
जयपुर. राजस्थान के करौली में हुई हिंसा के बाद अलवर राजगढ़ में मंदिर टूटने (Alwar temple demolition case) और अलवर के ही कठूमर में गोशाला ध्वस्त किए जाने पर कांग्रेस और भाजपा एक बार फिर आमने-सामने है. जहां एक के बाद भाजपा के नेता कांग्रेस पर इन दोनों मामलों पर हमला कर रही है. वहीं कांग्रेस भी इस बार भाजपा को कटघरे में खड़ा कर रही है. राजगढ़ में मंदिर तोड़े जाने पर कांग्रेस पार्टी की ओर से शनिवार को मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने मंदिर तोड़ने के लिए भाजपा के निकाय की ओर से पास किए गए प्रस्ताव को जिम्मेदार (Khachariyawas blamed BJP in Alwar temple demolition) ठहराया. उन्होंने आरोप लगाया कि पूरे देश को हिंदू, मुस्लिम, सिख, ईसाई के नाम पर बांटने की भाजपा साजिश कर रही है.
प्रताप सिंह ने कहा कि देश में पहली बार हो रहा है कि विकास के मुद्दों और घोषणा पत्रों पर चर्चा नहीं हो रही है, बल्कि घोषणापत्र साइड में है और लड़ाई हिंदू, मुस्लिम के नाम पर शुरू हो गई है. उन्होंने कहा कि राजगढ़ में मंदिर तोड़ने वाले भाजपा के लोग थे. लेकिन भाजपा के नेता सच बोलने को तैयार नहीं हैं. मंत्री प्रताप सिंह ने कहा कि भाजपा का जमीर मर चुका है, जो मंदिर तोड़ने के बाद झूठ भी बोल रहे हैं. मंत्री प्रताप सिंह ने आरोप लगाया कि कहा कि भाजपा पूरे प्रदेश में दंगे कराने का षड्यंत्र कर रही है ,इन्हें ना हिंदू से मतलब ना मुस्लिम से इन्हें केवल अपने वोट से मतलब है. उन्होंने आरोप लगाया कि मंदिर भाजपा ने तोड़ा है और उस मंदिर को कांग्रेस पार्टी बनाएगी.
अगर गोशाला तोड़ने में हुई गड़बड़ तो करेंगे कार्रवाईः अलवर के कठूमर में भी वन विभाग की ओर से अतिक्रमण मानते हुए गोशाला को ध्वस्त किया गया है. यह गोशाला न केवल पुरानी थी बल्कि इसे कई सम्मान भी मिल चुके थे. अब क्योंकि गोशाला को अतिक्रमण मानकर ध्वस्त कर दिया गया है. ऐसे में सभी गायें रास्ते पर आ गई हैं. इस मामले पर अब भाजपा कांग्रेस सरकार को कटघरे में खड़ा कर रही है, तो हर पंचायत में नंदी शाला खोलने की घोषणा करने वाली कांग्रेस सरकार भी सकते में आ गई है. हालांकि मंत्री प्रताप सिंह खाचरियावास ने कहा की गायों के लिए अगर किसी सरकार ने राजस्थान में सबसे ज्यादा काम किया है तो वह राजस्थान की कांग्रेस सरकार है. लेकिन अगर इस मामले में कोई गड़बड़ हुई है तो अधिकारियों के खिलाफ कार्रवाई की जाएगी.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta