जम्मू और कश्मीर

New Year 2022: माता वैष्णो देवी के जयकारे का लगा नारा, नए साल पर भवन पर मनाया जश्न

Kunti Dhruw
31 Dec 2021 7:08 PM GMT
New Year 2022: माता वैष्णो देवी के जयकारे का लगा नारा, नए साल पर भवन पर मनाया जश्न
x
नए साल पर माता वैष्णो देवी के दर्शन करने के लिए देश भर से श्रद्धालु पहुंचे हुए हैं।

नए साल पर माता वैष्णो देवी के दर्शन करने के लिए देश भर से श्रद्धालु पहुंचे हुए हैं। देर रात 12 बजते ही श्रद्धालुओं ने मां के जयकारे लगाने शुरू कर दिए। इसके साथ ही पूरा माहौल भक्तिमय हो गया। इससे पहले 31 दिसंबर को मां वैष्णो देवी के चरणों में शीश झुकाने वाले भक्तों की भारी भीड़ रही। श्रद्धालु पूरे उत्साह के साथ माता के जयकारे लगाते हुए सुबह से ही भवन की ओर प्रस्थान करते नजर आए।

तड़के ही पंजीकरण कक्ष के बाहर भक्तों की कतार देखने को मिली। यह सिलसिला भवन मार्ग पर कई स्थानों पर देखा गया। वहीं, प्रशासन भी कोरोना नियमों के पालन पर जोर देता रहा। कक्ष से मिली जानकारी के अनुसार देर शाम तक लगभग 25 हजार श्रद्धालुओं का पंजीकरण हो चुका था।

बता दें कि पांच वर्षों से 31 दिसंबर को भवन में माता के दर्शन करने वालों भक्तों की संख्या 50 हजार का आंकड़ा छूती रही है। हालांकि, इस बार भक्तों की संख्या सीमित रखी गई। जिस कारण कई भक्तों को शनिवार का इंतजार करना होगा।
माता के दरबार पहुंचे 56 लाख श्रद्धालु
वर्ष 2021 में कोरोना के प्रकोप के बीच भी माता के दर्शनों को आने वाले भक्तों का हौसला बुलंद रहा। कोरोना नियमों का पालन करते हुए वर्ष 2021 में 56 लाख भक्तों ने माता वैष्णो देवी की प्राकृतिक पिंडियों के समक्ष नमन किया। इससे पहले वर्ष 2020 में 17 लाख भक्तों ने ही माता के दर्शन पाए। वर्ष 2021 में माहवार आंकड़ों के हिसाब से जनवरी में 408061 भक्तों ने माता के दर्शन किए।

इसी तरह फरवरी में 389549, मार्च में 525198, अप्रैल में 321735, मई में 45155, जून में 198490, जुलाई में 500671, अगस्त में 521990, सितंबर में 639162, अक्तूबर में 753561, नवंबर में 646415 और दिसंबर में 632458 भक्तों ने माता के दरबार में माथा टेका। कोरोना काल से पहले वर्ष 2017 में लगभग 82 लाख भक्तों ने माता वैष्णो देवी के दर्शन किए। जबकि, वर्ष 2018 में 8586541 और वर्ष 2019 में 7940064 यात्री माता के दर्शन करने पहुंचे थे। गौरतलब है कि वर्ष 2011 और वर्ष 2012 में भक्तों की संख्या एक करोड़ का भी आंकड़ा पार कर चुकी है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta