जम्मू और कश्मीर

कुलगाम में सुरक्षाबलों ने 5 आतंकियों को किया ढेर, मारे गए आतंकियों में TRF का टॉप कमांडर

Renuka Sahu
18 Nov 2021 4:57 AM GMT
कुलगाम में सुरक्षाबलों ने 5 आतंकियों को किया ढेर, मारे गए आतंकियों में TRF का टॉप कमांडर
x

फाइल फोटो 

जम्मू-कश्मीर के कुलगाम में सुरक्षाबलों को आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई में बड़ी कामयाबी मिली है और एनकाउंटर में सेना के जवानों ने टीआरएफ के कमांडर समेत 5 आतंकियों को मार गिराया है.

जनता से रिश्ता वेवबडेस्क। जम्मू-कश्मीर के कुलगाम (Kulgam) में सुरक्षाबलों को आतंकियों के खिलाफ कार्रवाई में बड़ी कामयाबी मिली है और एनकाउंटर में सेना के जवानों ने टीआरएफ (TRF) के कमांडर समेत 5 आतंकियों को मार गिराया है. इसके साथ ही हैदरपोरा में आतंकियों के हाईटेक मॉड्यूल का खुलासा हुआ है. सूत्रों के मुताबिक एनकाउंटर के बाद सेना को 9 कंप्यूटर समेत कई दस्तावेज भी मिले है.

कुलगाम में 2 जगहों पर 5 आतंकी ढेर
जम्मू कश्मीर (Jammu-Kashmir) में आतंकियों पर सुरक्षाबलों का ताबड़तोड़ प्रहार जारी है और कुलगाम जिले (Kulgam District) में 2 जगहों पर 5 आतंकी मारे गए हैं. सुरक्षाबलों ने कुलगाम के पोंबई में 3 आतंकी मार गिराए, जबकि जबकि गोपालपोरा में 2 आतंकियों को ढेर कर दिया है.
मारे गए आतंकियों में टीआरएफ का टॉप कमांडर
कुलगाम एनकाउंटर (Kulgam Encounter) में मारे गए आतंकियों में आतंकी संगठन टीआरएफ का टॉप कमांडर आफाक सिकंदर (TRF Commander Afaq Sikander) मारा गया है. इसके अलावा टीआरएफ से जुड़े शरीर उर रहमान, हैदर उर असलम और इब्राहिम को भी सुरक्षाबलों ने ढेर कर दिया है. मुठभेड़ में मारे गए एक आतंकी की पहचान नहीं हो पाई है.
पुलवामा से 2 ओवर ग्राउंड वर्कर्स गिरफ्तार
इस बीच जम्मू-कश्मीर पुलिस ने पुलवामा से लश्कर के दो ओवर ग्राउंड वर्कर्स को भी गिरफ्तार किया है और उनके पास से आईईडी (IED) भी बरामद की गई है. सूत्रों के अनुसार दोनों लश्कर-ए-तैयबा की मदद कर रहे थे. जम्मू-कश्मीर पुलिस के प्रवक्ता ने बताया कि उनकी पहचान आसिफ रशीद वार और अल्ताफ हुसैन नजर के रूप में हुई है और ये पड़ोसी कुपवाड़ा जिले के नटनूसा के रहनेवाले हैं.
2 साल में कश्मीर से आतंक होगा 'क्लीन'
इस बीच आतंकियों के खिलाफ जम्मू-कश्मीर के उप राज्यपाल मनोज सिन्हा (Manoj Sinha) ने बड़ा बयान दिया है. मनोज सिन्हा ने कहा है कि जम्मू-कश्मीर से 2 साल में आतंक का सफाया कर दिया जाएगा. बता दें कि पिछले दो महीने से घाटी में आतंकियों ने हमले तेज कर दिए हैं. सरकार जरूर कड़े फैसले ले रही है, लेकिन आतंकी भी लोगों के मन में डर पैदा करने का काम कर रहे हैं. कभी बाहरी मजदूरों को निशाना बनाया जा रहा है तो कभी आम नागरिकों को भी गोली का शिकार बनाया जा रहा है. यही वजह है कि कश्मीर घाटी में सुरक्षा बल एक्शन में आ गए हैं, लेकिन इस बार आतंकियों पर अंतिम प्रहार की तैयारी है.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it