जम्मू और कश्मीर

अगले साल से जम्मू-कश्मीर के बच्चों को शहीदों की कहानियां स्कूल के पाठ्यक्रम में पढ़ाई जाएगी

Dev upase
27 Oct 2021 6:09 PM GMT
अगले साल से जम्मू-कश्मीर के बच्चों को शहीदों की कहानियां स्कूल के पाठ्यक्रम में पढ़ाई जाएगी
x

फाइल फोटो 

इस अवसर पर सिन्हा ने ब्रिगेडियर राजेंद्र सिंह को याद करते हुए कहा कि आज उनकी पुण्यतिथि है

जनता से रिस्ता वेबडेसक | जम्मू-कश्मीर के उपराज्यपाल मनोज सिन्हा ने कहा कि प्रदेश के बच्चों को अब कश्मीर के युद्ध के असली नायकों से परिचित कराने की जरूरत है। अगले साल से जम्मू-कश्मीर के बच्चों को मेजर सोमनाथ शर्मा, मकबूल शेरवानी, ब्रिगेडियर राजिंदर सिंह और लेफ्टिनेंट कर्नल राय की कहानियां स्कूल के पाठ्यक्रम में पढ़ाई जाएंगी।

आजादी के अमृत महोत्सव पर्व पर हम सभी का दायित्व है कि मातृभूमि की रक्षा करते हुए शहीद हुए इन शूरवीरों की कहानियां हर बच्चे की जुबां पर हों। उप राज्यपाल कश्मीर में भारतीय सेना के पहले हवाई दखल की 75वीं वर्षगांठ के मौके पर श्रीनगर में भारतीय वायुसेना के एयरबेस पर आयोजित कार्यक्रम में बोल रहे थे।

एलजी ने बुधवार को कहा कि 1947 में कश्मीर पर हमला करने वाले कबाइली नहीं बल्कि उनके वेष में पाकिस्तानी फौजी थे। जिन्होंने हमारे बेगुनाह भाइयों का बेरहमी से कत्ल किया, महिलाओं की अस्मत लूटी, घर जलाए। अब वक्त आ गया है कि उनके चेहरों से नकाब हटाया जाए। लोगों को समझना होगा कि हमारा पड़ोसी 75 साल से यही करता आया है।

इस अवसर पर सिन्हा ने ब्रिगेडियर राजेंद्र सिंह को याद करते हुए कहा कि आज उनकी पुण्यतिथि है जिन्होंने बहादुरी के साथ जम्मू-कश्मीर, कश्मीरियत और कश्मीरी आवाम को बचाने के लिए सर्वोच्च बलिदान दिया, मैं उन्हें नमन करता हूं।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it