जम्मू और कश्मीर

जम्मू कश्मीर में पहली बार हिम तेंदुओं के संरक्षण के लिए अभियान की हुई शुरुआत

Kunti
9 Nov 2021 11:49 AM GMT
जम्मू कश्मीर में पहली बार हिम तेंदुओं के संरक्षण के लिए अभियान की हुई शुरुआत
x
हिम तेंदुए की जनसंख्या की समीक्षा के उद्देश्य से जम्मू कश्मीर में पहली बार मंगलवार को एक अभियान की शुरुआत की गयी।

जम्मू, हिम तेंदुए की जनसंख्या की समीक्षा के उद्देश्य से जम्मू कश्मीर में पहली बार मंगलवार को एक अभियान की शुरुआत की गयी। इस अभियान के तहत इस विलुप्तप्राय जानवर के रहने के स्थान की पहचान की जाएगी और उसके उचित संरक्षण के लिए भविष्य की चुनौतियों की समीक्षा की जाएगी।

पर्यावरण मंत्रालय के 'हिम तेंदुए परियोजना' के तहत 2195.50 वर्ग किलोमीटर क्षेत्र में फैले 'किश्तवाड़ हाई एल्टीट्यूड' राष्ट्रीय उद्यान के लिए जम्मू कश्मीर वन्यजीव वार्डन सुरेश कुमार गुप्ता ने 48 सदस्यों वाले इस अभियान को जम्मू के मांडा चिड़ियाघर से हरी झंडी दिखाकर रवाना किया।
इस अभियान को 12 दलों में बांटा गया है। हिम तेंदुओं को 'अंतरराष्ट्रीय प्रकृति संरक्षण संघ' (आईयूसीएन) द्वारा विलुप्तप्राय घोषित किया गया है। यह तीन हजार से साढ़े चार हजार मीटर की ऊंचाई पर पाए जाते हैं और इन्हें किश्तवाड़ के बर्फीले इलाकों, जम्मू में उसके आसपास के क्षेत्रों तथा मध्य और उत्तर कश्मीर के इलाकों में भी देखा गया है।
गुप्ता ने पीटीआई-भाषा से कहा, "हिम तेंदुओं की जनसंख्या की समीक्षा की प्रक्रिया देश के विभिन्न हिस्सों में जारी है और अब सरकार से मंजूरी मिलने के बाद औपचारिक रूप से इसकी शुरुआत होने पर जम्मू कश्मीर भी इसमें शामिल हो गया है।" उन्होंने कहा कि इस प्रकार का सर्वेक्षण जम्मू कश्मीर में पहले कभी नहीं किया गया।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it