जम्मू और कश्मीर

जम्मू-कश्मीर में संशोधन के साथ परिसीमन की मसौदा रिपोर्ट जारी

Kunti Dhruw
14 March 2022 6:52 AM GMT
जम्मू-कश्मीर में संशोधन के साथ परिसीमन की मसौदा रिपोर्ट जारी
x
जम्मू-कश्मीर में विधानसभा हलकों का पुनर्निर्धारण कर दिया गया है।

जम्मू-कश्मीर में विधानसभा हलकों का पुनर्निर्धारण कर दिया गया है। परिसीमन आयोग की ओर से कुछ संशोधनों के साथ मसौदे को सार्वजनिक करने के साथ ही जनता से आपत्तियां व सुझाव मांगे गए हैं। सात दिन में आपत्तियां दाखिल की जा सकती हैं। 21 मार्च तक आपत्तियां दाखिल करने के बाद आयोग इन पर विचार करेगा।

इसके साथ ही इस महीने के आखिर में प्रदेश का दौरा कर आयोग लोगों से परिसीमन और उससे संबंधित आपत्तियों पर बात कर सकता है। जम्मू की सुचेतगढ़ सीट को बहाल कर आरएस पुरा को खत्म कर दिया गया है। अब आरएस पुरा का शहरी इलाका व तहसील का दसरोपुर, आरएस पुरा खास व कोटली शाहदौला पटवार सर्किल का हिस्सा जम्मू दक्षिण के साथ जुड़ेगा। जम्मू दक्षिण का नाम आरएस पुरा-जम्मू दक्षिण होगा। सांबा का गुढ़ा सलाथिया विजयपुर के बजाय सांबा विस क्षेत्र का हिस्सा होगा।
ड्राफ्ट रिपोर्ट के अनुसार नगरोटा का नाम अब भलवाल-नगरोटा होगा। वहीं रायपुर दोमाना व गांधीनगर सीट का अस्तित्व समाप्त हो गया है। रियासी में माता वैष्णो देवी और जम्मू में राजा बाहुलोचन के नाम पर बाहु सीट होगी। बाहु का इलाका पहले गांधीनगर के नाम से था। राजोरी में कालाकोट सीट अब कालाकोट-सुंदरबनी के नाम से जानी जाएगी।
श्रीनगर में हब्बाकदल को बहाल कर दिया गया है, जबकि सहयोगी सदस्यों (सांसदों) को सौंपी गई रिपोर्ट में प्रस्तावित जिले की अन्य सीटों के नाम में कोई बदलाव नहीं किया गया है। शोपियां में जैनापोरा नाम से नई सीट बनी है। शोपियां व गांदरबल में केवल दो ही सीटें होंगी।
राजोरी में सबसे अधिक तीन सीटें एसटी व जम्मू में चार सीटें एससी के लिए आरक्षित
अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित नौ सीटों में तीन कश्मीर और छह जम्मू संभाग में हैं। राजोरी में सबसे अधिक तीन सीटें अनुसूचित जनजाति के लिए आरक्षित की गई हैं। इसके साथ ही पुंछ में दो और रियासी, अनंतनाग, गांदरबल व बांदीपोरा में एक-एक सीटें हैं। अनुसूचित जाति के लिए आरक्षित सीटों में जम्मू में चार, उधमपुर, कठुआ व सांबा में एक-एक सीट हैं।
अनुसूचित जाति: रामनगर (उधमपुर), कठुआ दक्षिण, रामगढ़ (सांबा), बिश्नाह, सुचेतगढ़, मढ़, अखनूर (सभी जम्मू)
अनुसूचित जनजाति: गुरेज (बांदीपोरा), कंगन (गांदरबल), कोकरनाग (अनंतनाग), माहौर (रियासी), राजोरी, दरहाल व थन्नामंडी (राजोरी), सूरनकोट व मेंढर (पुंछ)
जम्मू में छह व कश्मीर में एक सीट बढ़ी
परिसीमन के अनुसार प्रदेश की विधानसभा में सात सीटें बढ़ाई गई हैं। इसमें जम्मू में छह व कश्मीर में एक सीट बढ़ी है। सात सीटें बढ़ने के साथ ही 90 सदस्यीय विधानसभा हो गई है। पहले 83 सीटें थीं। पहली बार अनुसूचित जनजाति को आरक्षण दिया गया है।
कुल सीटें - 90
जम्मू संभाग - 43
कश्मीर संभाग - 47


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta