हरियाणा

हरियाणा में बिजली संकट: कटौती से लोग बेहाल, सीएम ने कही यह बात

Kunti Dhruw
29 April 2022 6:46 PM GMT
हरियाणा में बिजली संकट: कटौती से लोग बेहाल, सीएम ने कही यह बात
x
हरियाणा में बिजली का संकट और गहरा गया है।

हरियाणा में बिजली का संकट और गहरा गया है। पर्याप्त बिजली न होने के चलते उद्योगों के बाद अब विभाग ने शहरों और गांवों में भी चार से साढ़े छह घटे के कट लगाने का शेड्यूल जारी कर दिया है। अघोषित कट भी लगाए जा रहे हैं। इससे प्रदेशभर में पानी आपूर्ति भी प्रभावित हो गई है। विभाग ने चेताया है कि अगर शेड्यूल के अनुसार कट नहीं लगाए गए तो संबंधित सब स्टेशन के ऑपरेटर सीधे बर्खास्त किए जाएंगे। बिजली कटों ने लोगों को रुलाकर रख दिया है। इनवर्टर जवाब दे गए हैं।

इस समय प्रदेश में बिजली की मांग 8900 मेगावाट और आपूर्ति 7400 मेगावाट चल रही है। मांग और आपूर्ति के बीच आ रहे 1400 मेगावाट के अंतर को दूर करने लिए विभाग बिजली खरीदने की प्रक्रिया में लगा है। जब तक बिजली नहीं मिल जाती तब तक विभाग ने पूरे प्रदेश में उत्तर और दक्षिण हरियाणा बिजली वितरण निगमों के लिए कट लगाने का शेड्यूल जारी कर दिया है। इसके तहत उद्योगों में पहले की तरह आठ घंटे, शहरों में साढ़े छह और गांवों में चार-चार घंटे के घोषित कट लगाए जाएंगे। इससे पहले ही रोजाना 15 लाख यूनिट का कट लगाया जा रहा है। नए घोषित कटों के बाद इसकी संख्या और बढ़ जाएगी।
इसलिए लग रहे कट
इस समय प्रदेश के पानीपत पावर प्लांट से 710, खेदड़ से 600 और यमुनानगर से 600 मेगावाट बिजली मिल रही है। केंद्रीय पुल से हरियाणा 1200 मेगावाट से अधिक बिजली खरीद रहा है। फिर भी मांग के अनुरूप व्यवस्था नहीं हो पा रही है। अदाणी कंपनी से 1421 मेगावाट और टाटा से 500 मेगावाट नहीं मिल पाई है। सरकार ने नए करार में छत्तीसगढ़ से 350 मेगावाट व मध्य प्रदेश से 150 मेगावाट अतिरिक्त बिजली लेनी है लेकिन यह अभी चालू नहीं हो पाई है।
अतिरिक्त बिजली खरीदने के लिए सभी प्रक्रियाएं पूरी कर ली गई हैं। गर्मी अधिक होने के चलते बिजली की मांग अधिक बढ़ने के कारण कट लगाए जा रहे हैं। आगामी एक से दो दिन में बिजली की व्यवस्था हो जाएगी। - रणजीत सिंह चौटाला, बिजली मंत्री।
15 मई से पहले 1000 मेगावाट बिजली मिल जाएगी: सीएम
हरियाणा को बिजली संकट से निजात दिलाने के लिए मुख्यमंत्री मनोहर लाल दिल्ली पहुंच गए हैं। उन्होंने शुक्रवार को केंद्रीय विद्युत, नव एवं नवीनीकरण ऊर्जा मंत्री राजकुमार सिंह से मुलाकात की। केंद्रीय मंत्री ने कामेंग हाइड्रो इलेक्ट्रिक प्रोजेक्ट से हरियाणा को 300 मेगावाट बिजली आपूर्ति पर सहमति जताई है। बैठक के बाद मुख्यमंत्री ने कहा कि हरियाणा को 15 मई से पहले 1000 मेगावाट और बिजली मिल जाएगी।
हिसार में पारा 46 डिग्री पार
उधर, हरियाणा में सूरज की तपिश लगातार बढ़ती जा रही है। शुक्रवार को हिसार में अधिकतम तापमान 46.2 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया जो पिछले एक दशक में सबसे अधिक रहा। मौसम विभाग ने एक मई तक प्रचंड गर्मी और भीषण लू का ऑरेंज अलर्ट जारी किया है। भारतीय मौसम विभाग के नारनौल स्थित सब सेंटर के नोडल अधिकारी डॉ. चंद्रमोहन ने बताया कि अगले तीन दिनों तक प्रचंड गर्मी का प्रकोप जारी रहेगा। पारा 48 डिग्री तक जाने का पूर्वानुमान है। रेवाड़ी में अधिकतम तापमान 46.1, सिरसा में 46, गुरुग्राम में 45.9 और नारनौल में 45 डिग्री सेल्सियस दर्ज किया गया। शेष जिलों में तापमान 42 डिग्री सेल्सियस से अधिक रहा।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta