हरियाणा

हरियाणा के सिरसा में प्राइवेट बस कर्मियों और पंजाब रोडवेज बस कर्मियों के बीच विवाद, जमकर हुई तू-तडाक

Gulabi Jagat
9 May 2022 8:00 AM GMT
हरियाणा के सिरसा में प्राइवेट बस कर्मियों और पंजाब रोडवेज बस कर्मियों के बीच विवाद, जमकर हुई तू-तडाक
x
प्राइवेट बस कर्मियों और पंजाब रोडवेज बस कर्मियों के बीच विवाद
सिरसा: हरियाणा के सिरसा में सोमवार को प्राइवेट बस कर्मियों और पंजाब रोडवेज बस कर्मियों के बीच विवाद हो गया. इस बीच दोनों पक्षों के बीच जमकर तू-तडाक देखने को मिली. सरकारी बस चालकों द्वारा आरोप लगाया गया कि एक प्राइवेट बस के चालक ने सरकारी बस का शीशा तोड़ दिया जिसके बाद यह विवाद शुरू हुआ. सरकारी बस कर्मियों ने यह आरोप लगाया है कि प्राइवेट बस को ड्राइवर नहीं बल्कि कंडक्टर चला रहा था.
हरियाणा रोडवेज सिरसा डिपो के यूनियन प्रधान भीम सिंह ने कहा कि पंजाब रोडवेज की एक बस को शिमला जाना था. इसी बीच एक प्राइवेट बस को चला रहे एक कंडक्टर से पंजाब रोडवेज की बस का साइड वाला शीशा टूट गया. इसके बाद दोनों पक्षों में जमकर तू-तड़ाक शुरू हो गई. प्राइवेट बस कर्मी ने गुंडागर्दी करते हुए पंजाब रोड की बस के आगे अपनी बस लगा दी. हद तो तब हुई जब वह खुद की गलती के बावजूद बस स्टेंड चौकी में शिकायत देने की बात करने लगा.
भीम सिंह ने बताया कि हालांकि थोड़ी देर बाद पुलिस की मौजूदगी में दोनों पक्षों के बीच समझौता हो गया. प्राइवेट बस कंडक्टर ने पंजाब रोडवेज बस ड्राइवर से अपने गलती की माफी मांगी। इस दौरान पंजाब रोडवेज की बस को करीब डेढ़ घंटे बाद शिमला के लिए रवाना किया जा सका. उन्होंने कहा कि सरकार को ऐसे बस चालकों पर नकेल कसनी चाहिए और कुछ कायदे लगाने चाहिए ताकि सरकारी बस चालकोंं के साथ ऐसी घटनाओं की दोबारा न हो.मीडिया से बातचीत में प्राइवेट बस संचालक मुकेश कुमार ने कहा कि आपसी विवाद था. हमने राजीनामा कर लिया है. दोनो पक्षों की गलती थी. हमने अपने स्तर पर विवाद को सुलझा लिया है. डबकि बस स्टैंड चौकी प्रभारी रण सिंह ने कहा कि दोनो में आपसी विवाद था जो सुलझ गया. हमारे पास किसी की तरफ से कोई शिकायत नहीं आई है. दोनो पक्षों मेंं राजीनाम हो गया हैं.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta