लाइफ स्टाइल

वैज्ञानिकों का दावा: आप भी खाते है ये चीजें? तो जल्दी आ जाएगा बुढ़ापा, जाने क्यों?

jantaserishta.com
20 Dec 2020 11:20 AM GMT
वैज्ञानिकों का दावा: आप भी खाते है ये चीजें? तो जल्दी आ जाएगा बुढ़ापा, जाने क्यों?
x

बढ़ती उम्र यानी एजिंग की समस्या पर काबू पाने के लिए लोगों ने अपने लाइफस्टाइल में बदलाव को स्वीकार कर लिया है. रेगुलर एक्सरसाइज, त्वचा का ख्याल, पर्याप्त नींद और आराम आपको लंबे समय तक जवान रखने की अच्छी तरकीब हैं. लेकिन क्या आप जानते हैं कि हमारी डाइट में शामिल खाने की एक चीज हमें तेजी से बुढ़ापे की ओर धकेलने पर अमादा है. हेल्थ एक्सपर्ट कहते हैं कि अत्यधिक शुगर का सेवन करने वालों में एज रिलेटिड डिसीज का खतरा ज्यादा होता है.

हाई शुगर डाइट से खतरा- टफ्ट्स यूनिवर्सिटी के शोधकर्ताओं का कहना है कि हाई शुगर फूड इंसान की उम्र से जुड़ी बीमारियों के लिए जिम्मेदार टॉक्सिन (जहरीले पदार्थ) का निर्माण करते हैं. साथ ही इन जहरीले पदार्थों को नष्ट करने वाली शारीरिक क्षमता को भी डैमेज करते हैं. इस तरह हाई शुगर फूड का हमारी सेहत पर दोहरा प्रहार होता है.
हाई शुगर से बीमारियां- शोध की प्रमुख लेखक और टफ्ट्स यूनिवर्सिटी की प्रोफेसर ऐलन टेलर का कहना है कि इस स्टडी में हमने ये समझने का प्रयास किया है कि हाई शुगर फूड आखिर कैसे हम इंसानों की सेहत पर असर डालते हैं. हमने पाया कि बॉडी में शुगर की अतिरिक्त मात्रा उम्र से जुड़ी बीमारियों का खतरा बढ़ाती हैं.
इन बीमारियों से खतरा- हाई शुगर फूड से कार्डियोवस्क्युलर डिसीज, डायबिटीज और एज रिलेटिड मैक्यूलर डीजेनरेशन की समस्या पैदा होती है. मैक्यूलर डीजेनरेशन एक ऐसी डिसीज है जो इंसान को अंधा तक बना सकती है.
क्या है एडवांस ग्लाइकेशन एंड प्रोडक्ट्स- दरअसल, शरीर में p62 नाम का एक प्रोटीन हमारी सेल्स को हेल्दी बनाए रखने का काम करता है. ये हमारे शरीर की सेनिटाइजेशन टीम का एक हिस्सा होता है जो हाई शुगर डाइट के हानिकारक बायोप्रोडक्ट advanced glycation end products (AGEs) को दूर करता है.
बॉडी के पूरे मैकेनिज्म पर बुरा असर- हमारे शरीर में p62 प्रोटीन जितना कम होगा, हानिकारक AGEs उतने ज्यादा जमा होंगे. हाई शुगर डाइट न सिर्फ शरीर को नुकसान पहुंचाने वाले AGEs को बढ़ाती है, बल्कि p62 के फंक्शन पर भी बुरा असर डालती है. हाई शुगर से टॉक्सिन का अमाउंट तो बढ़ता ही है, साथ ही साथ शरीर का बचाव करने वाला मैकेनिज्म भी प्रभावित होता है.
शुगर की जगह फैट रिप्लेस करने की गलती से बचें- ऐलन टेलर का कहना है, 'ऐसा नहीं है कि शरीर को शुगर की बिल्कुल जरूरत नहीं है. किसी भी तरह के शुगर का सेवन बंद कर देना भी जरूरी नहीं है. शुगर डाइट की जगह फैटी फूड को रिप्लेस करना भी बड़ी गलती होगी. डाइट को हमेशा बैलेंस रखें. इसमें कई अलग-अलग तरह के फल और सब्जियों का होना जरूरी है.'
इन चीजों को खाने से परहेज करें- हाई शुगर फूड से बचने के लिए कुछ चीजों को खाना बंद कर देना चाहिए. सॉस, कैचअप, पैकेबंद जूस, कोल्ड ड्रिंक्स या एनेर्जी ड्रिंक्स, चॉकलेट मिल्क, ग्रेनोला, फ्लेवर्ड कॉफी, आइस टी, कैन सूप या प्रीमेड सूप, प्रोटीन बार, विटामिन वॉटर और कैन फ्रूट में शुगर की अत्यधिक मात्रा होती है.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta