लाइफ स्टाइल

बच्चों के लिए ओमेगा -3 कितना महत्वपूर्ण है?

Janta Se Rishta Admin
5 Feb 2021 10:51 AM GMT
बच्चों के लिए ओमेगा -3 कितना महत्वपूर्ण है?
x
ओमेगा-3 शरीर के कई काम को अंजाम देने में अहम भूमिका निभाता है.

ओमेगा-3 शरीर के कई काम को अंजाम देने में अहम भूमिका निभाता है. बच्चों की डाइट में ओमेगा-3 के महत्व को जानना अभिभावकों के लिए जरूरी है. माता-पिता उनके भोजन में कई तरीकों से उसका डोज शामिल कर सकते

05 Feb 2021 12:38 PM (IST)

बच्चों के लिए ओमेगा -3 कितना महत्वपूर्ण है?? ways to add nutrient to their diet

पोषण स्वस्थ बच्चे और लंबी उम्र के लिए बुनियादी जरूरतों में से एक है. कुपोषण को बड़ी चिंता मानते हुए सरकारों, स्वास्थ्य एजेंसियों, दुनिया भर के नागरिकों, खासकर बच्चों के बीच, जागरुकता बढ़ाना बहुत जरूरी हो जाता है. जागरुकता में ये बताया जाना चाहिए कि विशेष तौर पर बच्चों को पोषक तत्वों की जरूरत, सही मात्रा और उसे हासिल करने के क्या स्रोत हो सकते हैं. माता-पिता के लिए अपने बच्चों को उसके पूरे जीवन में स्वस्थ रखना सबसे जरूरी है.

हालांकि, कई विटामिन जैसे विटामिन सी, डी और मिनरल जैसे आयरन और मैग्नीशियम के बारे में अभी भी बात की जाती है, लेकिन एक अहम पोषण जो बच्चों के स्वास्थ्य में अहम भूमिका निभाता है, उस पर ज्यादा तवज्जो नहीं दी रही है. यहां आपको बच्चों की खातिर ओमेगा-3 के बारे में जानना मुफीद रहेगा. आपको ये भी मालूम होना चाहिए कि पोषण के बहुत स्रोतों में से अपने बच्चों को क्या मुहैया करा सकते हैं.

बच्चों के स्वास्थ्य में ओमेगा-3 का महत्व

ओमेगा-3 जरूरी फैटी एसिड हैं जो दिमाग के विकास और कार्य में बड़ी भूमिका अदा करते हैं. ये नई कोशिकाओं के बनाने की प्रक्रिया का एक हिस्सा भी हैं. इसके अलावा, ये केंद्रीय तंत्रिका तंत्र और हृदय प्रणाली के विकास में मुख्य भूमिका निभाते हैं. उनकी भूमिका शरीर में अन्य पोषक तत्वों के अवशोषण और आंखों के काम में मदद पहुंचाने में भी है. रिसर्च के मुताबिक, ये मनोवैज्ञानिक और व्यवहार की स्थितियों को नियंत्रित करने में मदद करते हैं. ओमेगा-3 का सूजन-रोधी प्रभाव मोटापा और अस्थमा जैसी स्थितियों के इलाज से भी जोड़ा गया है. मोटापा और अस्थमा की दोनों समस्या बच्चों के बीच वृद्धि पर है.

बच्चों की डाइट में ओमेगा-3 के फूड स्रोत

जन्म से लेकर 18 साल की उम्र के बच्चे और बच्चियों को रोजाना ओमेगा-3 की मात्रा की जरूरत अलग-अलग होती है. मिसाल के तौर पर, जन्म से लेकर 12 महीने के बच्चे और बच्चियों को रोजाना 0.5 ग्राम ओमेगा-3 की मात्रा चाहिए. इसी तरह, 14 से 18 साल की बच्ची को रोजाना ओमेगा-3 की खुराक की जरूरत 1.1 ग्राम होगी, जबकि इसी उम्र के बच्चों को 1.6 ग्राम ओमेगा-3 की मात्रा चाहिए. ओमेगा-3 फैटी एसिड की ऊपर बताई गई जरूरतों को खास भोजन से हासिल किया जा सकता है. अभिभावकों को चाहिए कि अपने बच्चे के संतुलित आहार में समुद्री भोजन जैसे सालमन, सार्डिन मछली, झींगा, हिलसा मछली शामिल करें. इसके अलावा, मांस में बीफ और शाकाहारी स्रोतों में अलसी, अखरोट, सोयाबीन और चिया बीज उपयुक्त रहेगा.

धायनवाद

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta