लाइफ स्टाइल

मधुूमेह रोगि‍यों के ल‍िए फायदेमंद है गुड़मार, जानें कैसे ये आयुर्वेदिक उपाय करता है काम

Neha Dani
19 Jun 2022 11:19 AM GMT
मधुूमेह रोगि‍यों के ल‍िए फायदेमंद है गुड़मार, जानें कैसे ये आयुर्वेदिक उपाय करता है काम
x
कम कैलोरी का उपभोग कर सकते हैं। बढ़ता वजन भी मधुमेह रोगियों के लिए एक खतरे की घंटी है।

डायबिटीज या मधुमेह आज के समय में एक आम हेल्थ प्रॉब्लम बनती जा रही है। हर घर में कोई ना कोई सदस्य इस बीमारी से ग्रस्त है। अमूमन लोग डायबिटीक होने पर दवाईयों का सेवन करते हैं। लेकिन अगर आप नेचुरल तरीके से अपनी शुगर को नियंत्रित करना चाहते हैं तो ऐसे में आपको कुछ आयुर्वेदिक उपायों को अपनाना चाहिए। इन उपायों में एक बेहद प्रभावी तरीका है गुड़मार का सेवन करना। यह एक ऐसी जड़ी बूटी है, जिसका इस्तेमाल मधुमेह से लेकर मलेरिया और यहां तक कि सांप के काटने पर किया जाता है। तो चलिए आज इस लेख में हम गुड़मार और मधुमेह रोगियों को इससे मिलने वाले फायदों पर बात कर रहे हैं-

क्या है गुड़मार
गुड़मार अपने नाम की तरह ही मीठे के स्वाद को मार देता है। दरअसल, गुड़मार एक औषधीय पौधा है जो देश के मध्य, पश्चिमी और दक्षिणी भागों के उष्णकटिबंधीय जंगलों में जंगली रूप से उगता है। जब इसकी पत्ती का सेवन किया जाता है, तो किसी भी मीठी चीज का स्वाद लगभग एक घंटे तक के लिए समाप्त हो जाता है। इसे खाने के बाद गुड़ या चीनी की मिठास व्यक्ति को महसूस ही नहीं होती। इसलिए, मधुमेह में इसका इस्तेमाल करना अच्छा माना जाता है।
कचरा नहीं इम्यूनिटी बूस्टर का काम करता है तरबूज का छिलका, फायदा पाने के ल‍िए खाएं इसकी सब्‍जी कचरा नहीं इम्यूनिटी बूस्टर का काम करता है तरबूज का छिलका, फायदा पाने के ल‍िए खाएं इसकी सब्‍जी
ऐसे है लाभदायक
मधुमेह में इसका सेवन करना विशेष रूप से इसलिए लाभदायक माना गया है, क्योंकि जब व्यक्ति गुड़मार का सेवन करता है, तो उसकी चीनी या मीठे भोजन की लालसा कम हो जाती है। जब मीठा भोजन या पेय से पहले गुड़मार का सेवन किया जाता है, तो यह आपके टेस्ट बड पर चीनी रिसेप्टर्स को ब्लॉक कर देता है। ऐसे लोगों को तब मीठे खाद्य पदार्थ भी अच्छे नहीं लगते हैं और ऐसे में वह धीरे-धीरे मीठी चीजों का सेवन करना कम कर देते हैं।
इसके अलावा, गुड़मार इंसुलिन स्राव और सेल रिजेनरेशन में भी अपना योगदान देता है, जिसके कारण ब्लड शुगर लेवल आसानी से बैलेंस हो जाता है। बता दें कि गुड़मार पैनक्रियाज में इंसुलिन उत्पादन को उत्तेजित कर सकता है और इंसुलिन-प्रोड्यूसिंग सेल के पुनर्जनन को बढ़ावा देता है। इइस तरह, यह मधुमेह रोगियों में रक्त शर्करा के स्तर को कम करने में मदद कर सकता है।
वहीं, गुड़मार वजन घटाने में बहुत मददगार है। चूंकि, गुड़मार आपके टेस्ट बड पर मीठे रिसेप्टर्स को अवरुद्ध करता है, इससे आप कम मीठे खाद्य पदार्थ खा सकते हैं और कम कैलोरी का उपभोग कर सकते हैं। बढ़ता वजन भी मधुमेह रोगियों के लिए एक खतरे की घंटी है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta