जरा हटके

जानिए उस अनोखा फूल के बारे में जिसपर कभी नहीं बैठता भंवरा

Bharti sahu
31 Oct 2021 3:18 PM GMT
फूल सिर्फ खुशबू के लिए ही नहीं बल्कि अपनी सुंदरता के लिए भी जाने जाते हैं।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क | फूल सिर्फ खुशबू के लिए ही नहीं बल्कि अपनी सुंदरता के लिए भी जाने जाते हैं। पूजा से लेकर घर की सजावट तक में फूलों का इस्तेमाल किया जाता है। हमारे आस-पास कई तरह के फूलों के पौधे होते हैं, जो देखने में काफी खूबसूरत लगते हैं। इनको देखने के बाद आंखों को अलग सी ठंडक मिलती है और सारी थकान भी दूर हो जाती है।

फूल सिर्फ इंसान ही नहीं जीवों को काफी पसंद आते हैं, इसलिए फूलों पर तितली और भंवरे मंडराते रहते हैं। अभी तक तो हम फूलों को उनकी खूबसूरती, सजावट और खुशबू से पहचानते हैं, लेकिन क्या आपको पता है कि दुनिया में एक ऐसा भी फूल है, जिसपर कभी भंवरा नहीं बैठता? जी हां, हमारे आस-पास ही एक ऐसा फूल मौजूद है जिसपर शायद हमने कभी ध्यान नहीं दिया होगा, लेकिन उस फूल पर कभी भंवरा नहीं बैठता। आइये जानते हैं उस फूल के बारे में...
चंपा के फूलों पर नहीं बैठता भंवरा
अक्सर आपने देखा होगा कि भंवरे ज्यादातर फूलों पर ही पाए जाते हैं, लेकिन आपको जानकर हैरानी होगी कि भंवरे चंपा के फूल पर कभी नहीं बैठते। चंपा के फूलों में एक अलग तरह की गंध होती है और इसके फूलों में पराग नहीं होता, जिसके कारण भंवरे इनके आस-पास भी नहीं भटकते। सिर्फ भंवरे ही नहीं चंपा के फूलों के पास ततैया, मधुमक्खियां भी नहीं आतीं।
चंपा के फूलों की खास बातें
चंपा के फूलों की खास बात ये है कि इसके पौधे हमेशा हरे-भरे रहते हैं। साथ ही चंपा के फूल देखने में खूबसूरत, सुगन्धित और हल्के सफेद-पीले रंग के होते हैं। ये फूल मुख्यत: 5 प्रकार के होते हैं और सभी फूल बेहद सुगंधित होते हैं।
चंपा के फूलों का उपयोग
चंपा के फूल अक्सर पूजा में उपयोग किए जाते हैं। इतना ही नहीं चंपा के फूलों का तेल और इत्र भी बनता है। इसके फूल और वृक्षों का उपयोग औषधि के रूप में भी होता है। कहा जाता है कि चंपा का पौधा वास्तु की दृष्टि से सौभाग्य का प्रतीक माना जाता है।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta