दिल्ली-एनसीआर

ट्विन टावर ध्वस्तीकरण: 22 मई को गिरा दी जाएगी इमारत, मलबे की कीमत होगी इतना

Kunti Dhruw
9 Feb 2022 3:39 PM GMT
ट्विन टावर ध्वस्तीकरण: 22 मई को गिरा दी जाएगी इमारत, मलबे की कीमत होगी इतना
x
सेक्टर 93-ए स्थित ट्विन टावर को ध्वस्त किए जाने की तारीख का एलान हो गया है।

नोएडा : सेक्टर 93-ए स्थित ट्विन टावर को ध्वस्त किए जाने की तारीख का एलान हो गया है। ट्विन टावर को 22 मई को ध्वस्त कर दिया जाएगा। नोएडा प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी रितु माहेश्वरी की ओर से बुलाई गई बैठक में कार्य योजना तय की गई है।

सुप्रीम कोर्ट के ध्वस्तीकरण के आदेश से पहले ही प्राधिकरण की मुख्य कार्यपालक अधिकारी (सीईओ) रितु माहेश्वरी ने इस मामले में बुधवार को सभी संबंधित विभागों की बैठक बुलाई। सुपरटेक ने भी इमारत ध्वस्त करने वाली मुंबई की कंपनी एडिफिस को 70 लाख रुपये का चेक एडवांस पेमेंट के रूप में दिया है। कंपनी का कहना है कि चेक क्लियर होने के बाद काम शुरू कर दिया जाएगा।
मलबा देकर भी बिल्डर को देने होंगे 4.20 करोड़
सुप्रीम कोर्ट का आदेश है कि ट्विन टावर को तोड़ने में जो भी खर्च आएगा, उसे भी बिल्डर कंपनी को ही वहन करना होगा। पता चला है कि दोनों टावर तोड़ने के लिए मुंबई की एडिफिस एजेंसी करीब 17.55 करोड़ रुपये सुपरटेक बिल्डर से लेगी। इसमें करीब 13.35 करोड़ रुपये का मलबा निकलेगा। ऐसे में बिल्डर कंपनी एडिफिस को करीब 4.20 करोड़ रुपये का भी भुगतान करेगी।
100 करोड़ से ज्यादा का बीमा कराएगी एडिफिस
अवैध करार दिए जा चुके ट्विन टावर को ध्वस्त करने के लिए मुंबई की एडिफिस कंपनी से बिल्डर कंपनी से करार किया है। विस्फोटक लगाकर इमारत को गिराया जाएगा। इस दौरान जोखिम की आशंका भी एक पहलू है। विशेष रूप से सुपरटेक का टावर संख्या-1 और एटीएस विलेज ट्विन टावर के सबसे पास है। विस्फोट के दौरान इन दोनों टावर को नुकसान हो सकता है। इसको देखते हुए एडिफिस एजेंसी 100 करोड़ रुपये से ज्यादा का बीमा करवाएगी। इस जोखिम में अगर किसी इमारत में नुकसान होता है या कोई दुर्घटना होती है तो वो कवर होगी। वहीं पिछले दिनों हुए प्रजेंटेशन में एडिफिस कंपनी ने बताया कि किस तरह कंट्रोल ब्लास्ट से दोनों टावर को तोड़ते हुए झरने की तरह खाली जगह में गिराया जाएगा। विशेषज्ञों की देखरेख में 90 दिन में विस्फोटक लगाया जाएगा।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta