Top
COVID-19

कोरोना वैक्सीन का टीका लगाने के बाद, दिख सकते हैं इसके हल्के साइड इफेक्ट

Ritu Yadav
23 Feb 2021 8:07 AM GMT
कोरोना वैक्सीन का टीका लगाने के बाद, दिख सकते हैं इसके हल्के साइड इफेक्ट
x
COVID-19 वैक्सीन के बारे में बहुत कुछ कहा और किया जा रहा है.

जनता रिश्ता बेवङेस्क | COVID-19 वैक्सीन के बारे में बहुत कुछ कहा और किया जा रहा है. लेकिन, जैसा कि सभी टीकों के मामले में होता है, COVID-19 वैक्सीन का भी दुष्प्रभाव सामने आ सकता है. हाल ही में विश्व स्वास्थ्य संगठन (डब्ल्यूएचओ) द्वारा जारी एक मेडिसिन और वैक्सीन सेफ्टी में बताया गया है कि वैक्सीन मिलने के बाद आपको क्या उम्मीद करनी चाहिए. आमतौर पर किसी वैक्सीन का ​​परीक्षण हजारों लोगों पर किया जाता है और लंबी अवधि तक निगरानी के बाद वैक्सीन की सफलता आंकी जाती है. इस लंबी अवधि में टीके के प्रभाव पर बारीक नजर रखी जाती है, लेकिन कोरोना वायरस के टीके के मामले में लंबी अवधि तक जांच-पड़ताल का समय नहीं मिला. लोगों का जीवन बचाने के लिए टीके का निर्माण काफी कम समय में किया गया.

ऐसे में डब्ल्यूएचओ द्वारा साझा किए गए एक अन्य आईजीटीवी में कहा गया है कि COVID-19 के लिए वर्तमान में उपलब्ध टीके अभी भी निगरानी में हैं. स्वास्थ्य अधिकारी सभी COVID-19 टीकों की सावधानीपूर्वक निगरानी कर रहे हैं, ताकि यह सुनिश्चित हो सके कि वे हर किसी के लिए सुरक्षित हैं, जो उन्हें लगवा रहे हैं. डब्ल्यूएचओ द्वारा जारी आईजीटीवी के बारे में अयाको फुकुशिमा बताते हैं कि जब आप टीका लगवाते हैं तो कुछ दुष्प्रभाव सामान्य और अपेक्षित होते हैं. वे संकेत देते हैं कि आपका शरीर वायरस से सुरक्षा प्रदान कर रहा है.

टीका लगाने के बाद आम साइड इफेक्ट

इंजेक्शन स्थल पर पसीना आना या लाल हो जाना, हल्का बुखार आना, थकान, सिर दर्द, मांसपेशियों या जोड़ों का दर्द. ये सभी लक्षण सामान्य रूप से एक सप्ताह से भी कम समय तक दिखते हैं. यदि आप में ये लक्षण एक सप्ताह से अधिक दिखते हैं तो आपको उन स्वास्थ्यकर्मियों को सूचित करने की आवश्यकता है, जिन्होंने आपको टीका लगाया था. ऐसा करने से न केवल आप अपनी सुरक्षा करते हैं, बल्कि दूसरों के लिए भी सुरक्षा की जरूरत पूरी करते हैं.

कोई नकारात्मक प्रतिक्रिया की रिपोर्ट करते हैं तो

यदि आप COVID-19 वैक्सीन के प्रति कोई नकारात्मक प्रतिक्रिया की रिपोर्ट करते हैं तो सबसे पहले स्वास्थ्यकर्मी आपके लक्षणों का इलाज करेंगे. फिर आपके लक्षणों के कारण का मूल्यांकन करने के लिए एक विस्तृत जांच की जाएगी. इसमें वैक्सीन के भंडारण, परिवहन या अन्य समस्याओं से जुड़े जांच भी हो सकते हैं. फुकुशिमा ने कहा कि अगर वास्तविक जांच पर संदेह होता है तो स्वास्थ्य अधिकारी टीके के इस्तेमाल को निलंबित कर सकते हैं. डब्ल्यूएचओ ने कहा कि इन जांचों को डब्ल्यूएचओ का समर्थन प्राप्त है और वे दुनिया भर के टीकों की प्रतिक्रियाओं पर नजर रख रहे हैं.

गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं होना दुर्लभ

फुकुशिमा ने कहा कि टीके के कारण सीधे होने वाली गंभीर स्वास्थ्य समस्याएं होना अत्यंत दुर्लभ है, क्योंकि वैक्सीन और उसके ​​परीक्षणों के परिणाम काफी आशाजनक रहे हैं। फुकुशिमा ने कहा कि वितरण से पहले सभी COVID-19 टीके लोगों की की सुरक्षा सुनिश्चित करने के लिए डिजाइन की गई सख्त परीक्षण प्रक्रिया से गुजरे हैं. अब तक टीके कोरोनोवायरस से बीमार होने के जोखिम को अप्रत्याशित रूप से कम करने में कामयाब साबित हुए हैं. टीके प्राप्त करना वास्तव में सबसे अच्छी चीजों में से एक है, जो आप अपने और अपने प्रियजनों को COVID -19 से बचाने के लिए कर सकते हैं.

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it