Top
विश्व

कमजोर कानून बना दुकानदारों की मुसीबत, लूटने के बाद Car में बैठकर फरार हुए 2 अपराधी

Neha
22 July 2021 6:57 AM GMT
कमजोर कानून बना दुकानदारों की मुसीबत, लूटने के बाद Car में बैठकर फरार हुए 2 अपराधी
x
अपराधियों को रोकने की कोशिश न करें, क्योंकि वो हिंसक हो सकते हैं.

अमेरिका के कैलिफोर्निया (California) में अपराधियों के हौसले इतने बुलंद हैं कि वो दिनदहाड़े दुकानों को लूटते हैं और कोई कुछ नहीं कर पाता. हाल ही में हुई एक वारदात का वीडियो वायरल (Viral Video) हो रहा है, जिसमें दिखाया गया है कि दो युवक बड़े आराम से दुकान से सामान उठाकर बाहर निकल रहे हैं. दरअसल, लुटेरों को रोकने की कोशिश में कई दुकानदारों की जान जा चुकी है, इसलिए कोई मुसीबत मोल लेना नहीं चाहता.

Car में बैठकर हुए फरार
डेली मेल की खबर के अनुसार, इस हफ्ते की शुरुआत में चोरी की एक वारदात का वीडियो सामने आया है. जिसमें दो युवक कैलिफोर्निया के लॉस एंजिल्स (Los Angeles) स्थित TJ Maxx स्टोर से हाथों में कपड़े लिए बाहर निकल रहे हैं. वीडियो देखकर साफ अंदाजा हो जाता है कि अपराधियों की हौसले यहां कितने बुलंद हैं. दोनों आराम से स्टोर से बाहर निकल जाते हैं और गाड़ी में बैठकर फरार हो जाते हैं. स्टोर में ही मौजूद एक शख्स ने वीडियो रिकॉर्ड किया था
ये है बुलंद हौसलों की वजह
अपराधियों के बुलंद हौसले की वजह एक्सपर्ट्स स्थानीय कानून को बताते हैं, जिसमें 950 डॉलर से कम की चोरी को मामूली अपराध की श्रेणी में रखा गया है. अपराधियों को पता है कि यदि वो चोरी करते हुए पकड़े भी जाते हैं, तो ज्यादा सजा नहीं होगी. इसलिए वो बेखौफ होकर वारदातों को अंजाम देते हैं. पुलिस अधिकारी भी मानते हैं कि कानून कमजोर होने की वजह से अपराधियों में पुलिस का भी खौफ नहीं है.
Shoplifting Cases में आई तेजी
कैलिफोर्निया में पिछले कुछ सालों से चोरी-लूट की वारदातों में गजब की तेजी दर्ज की गई है. हालात ये हो चले हैं कि कई कंपनियों को अपने स्टोर बंद करने पड़े हैं. 2014 में स्थानीय सरकार ने कानून में संशोधन करके 950 डॉलर से कम कीमत के सामान की चोरी को मामूली अपराध की श्रेणी में रख दिया था. जिससे अपराधियों में कानून का कोई खौफ नहीं रहा है.
Police ने भी माना कमजोर है कानून
लॉस एंजिल्स पुलिस विभाग के सार्जेंट जेरेटा सैंडोज (Jerretta Sandoz) ने TJ Maxx की घटना पर प्रतिक्रिया व्यक्त करते हुए कहा, 'अपराधी वारदात को अंजाम देने के बाद भागे नहीं, बल्कि आराम से टहलते हुए बाहर निकले. उनके बढ़ते हौसले निश्चित रूप से चिंता का विषय है'. सार्जेंट ने कमजोर कानून का हवाला देते हुए कहा कि यदि वो पकड़े भी जाते तो उन्हें ट्रैफिक टिकट थमाने जितनी सजा मिलती.
Employees को दी ये सलाह
पिछले गुरुवार को ग्लासेल पार्क स्थित Rite Aid कंपनी के एक कर्मचारी की अपराधियों ने गोली मारकर हत्या कर दी थी. कर्मचारी ने दो युवकों को बीयर चोरी करने से रोकने का प्रयास किया था, जिसके जवाब में उन्होंने गोली दाग दी. इससे पहले भी इस तरह की कई वारदातें हो चुकी हैं. अधिकांश कंपनियों ने अपने कर्मचारियों को स्पष्ट हिदायत दी है कि अपराधियों को रोकने की कोशिश न करें, क्योंकि वो हिंसक हो सकते हैं.


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it