विश्व

US सांसद ने कहा- आतंकवाद का स्पांसर घोषित हो पाकिस्तान

Gulabi
11 March 2022 5:07 PM GMT
US सांसद ने कहा- आतंकवाद का स्पांसर घोषित हो पाकिस्तान
x
इन चीजों का प्रतिबंध होगा शामिल
अमेरिका (America) के एक वरिष्ठ सांसद ने प्रतिनिधि सभा में विधेयक पेश कर पाकिस्तान (Pakistan) को आतंकवाद को स्पांसर करने वाला देश घोषित करने की मांग की है. शुक्रवार को मीडिया में आईं खबरों में यह जानकारी दी गई है. पाकिस्तान के समाचार पत्र 'डॉन' की खबर के अनुसार पेन्सिलवेनिया (Pennsylvania) से रिपब्लिकन पार्टी के सांसद स्कॉट पैरी (Scott Perry) ने 'पाकिस्तान की आतंकी गतिविधियों पर लगाम' (Stopping Pakistani Terror Act) विधेयक पेश किया है, जिसे अब अमेरिकी सदन की विदेश मामलों (US House Committee on Foreign Affairs) से संबंधित समिति के पास भेजा गया है.
खबर में कहा गया है कि यदि यह विधेयक पारित हो जाता है तो पाकिस्तान पर कई पाबंदियां लगाई जा सकती हैं, जिसमें विदेशी सहायता पर रोक, रक्षा आयात पर प्रतिबंध और दोहरे उपयोग की वस्तुओं के निर्यात पर नियंत्रण शामिल है. विधेयक के अनुसार अधिनियम लागू होने के बाद पाकिस्तान को अंतरराष्ट्रीय आतंकवाद (Pakistan Terrorism) को समर्थन देने वाला देश माना जाएगा. अब तक केवल चार देशों को आतंकवाद को स्पांसर करने वाला देश घोषित किया गया है. इनमें क्यूबा, ​​उत्तर कोरिया (North Korea), ईरान और सीरिया शामिल हैं. उत्तर कोरिया पर कई मुल्कों ने इस तरह का आरोप लगाए हुए हैं.
इन चीजों का प्रतिबंध होगा शामिल
द एक्सप्रेस ट्रिब्यून की खबर के मुताबिक, प्रस्तावित प्रतिबंधों में विदेशी सहायता पर प्रतिबंध शामिल हैं. रक्षा निर्यात और खरीद पर बैन, दोहरे इस्तेमाल की वस्तुओं के निर्यात पर कुछ कंट्रोल और वित्तीय एंव अन्य प्रतिबंध शामिल हैं. विधेयक के पास हो जाने पर अमेरिकी सरकार को विधेयक में बताए गए प्रतिबंधों के अधीन फैसला लेना होगा. इसके तहत वह प्रतिबंधित देशों को हथियारों या किसी भी अन्य तरह की वित्तीय मदद नहीं दे पाएगा. पैरी का ये कदम ऐसे समय पर आया है, जब अमेरिका में पाकिस्तान के राजूदत के तौर पर नियुक्त किए गए मसूद खान के ऊपर आतंकवादी संगठनों से संबंध होने के आरोप लगे हैं.
मसूद खान की नियुक्ति बना बवाल
स्कॉट पैरी और दो अन्य अमेरिकी सांसदों ने इन आरोपों की जांच की मांग की है. नौ मार्च को स्कॉट ने ग्रेगरी स्ट्यूब और मैरी ई मिलर के साथ अमेरिकी अटॉर्नी जनरल मेरिक गारलैंड को पत्र लिखा. इस पत्र में दावा किया गया कि राजदूत मसूद खान के आतंकियों के साथ संबंध रहे हैं. ऐसे में उनकी नियुक्त देश के लिए खतरा हो सकती है. पाकिस्तान ने पिछले महीने कहा था कि अमेरिकी सरकार ने वाशिंगटन में राजदूत के तौर पर खान के नामांकन को मंजूरी दे दी है. इससे कुछ दिनों पहले एक प्रतिष्ठित अमेरिकी सांसद ने राष्ट्रपति जो बाइडेन से उनका राजनयिक परिचय पत्र खारिज करने और उन्हें आतंकवादियों का सच्चा हमदर्द करार देने का अनुरोध किया था.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta