विश्व

अमेरिकी खुफिया एजेंसी ने दिए संकेत, यूक्रेन पर बड़ा हमला करने की फिराक में रूस

Bhumika Sahu
15 Jan 2022 4:56 AM GMT
अमेरिकी खुफिया एजेंसी ने दिए संकेत, यूक्रेन पर बड़ा हमला करने की फिराक में रूस
x
अमेरिकी खुफिया एजेंसियों का मानना ​​है कि रूस की गतिविधि से लग रहा है कि वह अगले 30 दिनों के भीतर यूक्रेन पर जमीनी आक्रमण कर सकता है। वह यूक्रेन पर एक बड़े हमले के लिए संभावित आक्रमण का बहाना बनाने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहा है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। यूक्रेन के खिलाफ रूसी साइबर अभियानों की निगरानी करने वाली अमेरिकी खुफिया एजेंसियों का मानना ​​है कि रूस की गतिविधि से लग रहा है कि वह अगले 30 दिनों के भीतर यूक्रेन पर जमीनी आक्रमण कर सकता है। पेंटागन के प्रेस सचिव जॉन किर्बी ने शुक्रवार को प्रेस से कहा कि उनके पास ऐसी जानकारी आई हैं जिससे यह संकेत मिलते हैं कि रूस पहले से ही यूक्रेन पर एक बड़े हमले के लिए संभावित आक्रमण का बहाना बनाने के लिए सक्रिय रूप से काम कर रहा है। बता दें कि अमेरिका का यह आरोप दोनों देशों के बीच राजनयिक बैठक के एक सप्ताह के बाद आया है।

यूक्रेन के फैसले को बदलने की कोशिश
किर्बी ने कहा कि इस तरह का हमला कार्रवाई को रोकने की कोशिश करने, क्षमता को बाधित करने के लिए, व्यवहार को बदलने या यूक्रेन के अंदर नेतृत्व के फैसले को बदलने की कोशिश करने के लिए भी हो सकता है। व्हाइट हाउस के प्रेस सचिव जेन पसाकी ने कहा कि बाइडन प्रशासन चिंतित था कि रूस इस तरह के हमले करेगा, यह वैसा ही था जैसा मास्को ने 2014 में यूक्रेन पर रूसी बलों के खिलाफ हमले की तैयारी का आरोप लगाकर किया था। पसाकी ने कहा कि वह चिंतित हैं कि रूसी सरकार यूक्रेन में एक आक्रमण की तैयारी कर रही है जिसके परिणामस्वरूप व्यापक मानवाधिकारों का उल्लंघन हो सकता है।
रूस ने साइटों पर यूक्रेनी उकसावे को गढ़ना शुरू किया
एक अधिकारी ने संवाददाताओं को बताया कि वाशिंगटन के पास यह संकेत है कि मॉस्को ने एक समूह को पूर्वनिर्धारित किया है और गृहयुद्ध के लिए प्रशिक्षित किया है, साथ ही वे रूस की अपनी छद्म ताकतों के खिलाफ तोड़फोड़ के कृत्यों को अंजाम देने के लिए विस्फोटकों का उपयोग कर सकता है। जानकारी के अनुसार रूसी नेताओं ने रूसी हस्तक्षेप को सही ठहराने के लिए राज्य और सामाजिक मीडिया साइटों पर यूक्रेनी उकसावे को गढ़ना शुरू कर दिया है ।
यूक्रेन की सीमा के पास हजारों सैनिकों को किया जमा
अधिकारी ने कहा कि रूस ने यूक्रेन की सीमा के पास हजारों सैनिकों को जमा किया है, जो इस आशंका को बढ़ाता है कि मास्को अपने पड़ोसी पर आक्रमण करने की योजना उसी तरह से बना सकता है जैसे उसने 2014 में यूक्रेन के क्रीमिया प्रायद्वीप पर कब्जा कर लिया था। राष्ट्रपति बिडेन ने रूसी राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन को चेतावनी दी है कि अगर रूस यूक्रेन पर आक्रमण करेगा तो उसे गंभीर आर्थिक प्रतिबंधों का सामना करना पड़ेगा। हालांकि, मास्को ने यूक्रेन पर आक्रमण करने के किसी भी इरादे से बार-बार इनकार किया है।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it