विश्व

बिना क्वारंटीन करे भारतीय यात्रियों को तुर्की देगा एंट्री, अपडेट की गाइडलाइंस

Neha Dani
15 Nov 2021 9:41 AM GMT
बिना क्वारंटीन करे भारतीय यात्रियों को तुर्की देगा एंट्री, अपडेट की गाइडलाइंस
x
WHO द्वारा वैक्सीन की मंजूरी से पहले ही कुछ देशों ने कोवैक्सीन को राष्ट्रीय नियामक मंजूरी दे दी थी.

तुर्की (Turkey) की यात्रा करने वाले भारतीय नागरिकों को अब सोमवार से अनिवार्य क्वारंटीन (Turkey removes Quarantine rule) में जाने की जरूरत नहीं होगी. इसके लिए उनका कोविशील्ड (Covishield) और कोवैक्सीन (Covaxin) की वैक्सीन से फुली वैक्सीनेट होना जरूरी है. भारत और नेपाल के यात्रियों के लिए अपडेटेड क्वारंटीन व्यवस्था (Turkey Updated Quarantine Rule) पर तुर्की दूतावास (Turkish embassy) द्वारा जारी एक बयान में कहा गया है कि 15 नवंबर से यात्रियों को आगमन से 72 घंटे पहले तक निगेटिव पीसीआर टेस्ट रिपोर्ट जमा कराना होगा.

बयान के अनुसार, विश्व स्वास्थ्य संगठन (WHO) या तुर्की द्वारा आपातकालीन इस्तेमाल के लिए मंजूर कोविड वैक्सीनों (Covid-19 vaccines) की दो डोज लगवाने वाले यात्रियों को वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट दिखाने पर अनिवार्य क्वारंटीन से छूट दी जाएगी. हालांकि, जो यात्री वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट नहीं दे सकते हैं. उन्हें उनके निवास या तुर्की में बताए गए पते पर क्वारंटाइन किया जाएगा. क्वारंटीन के 10वें दिन, उनका पीसीआर टेस्ट किया जाएगा और नतीजे निगेटिव होने पर क्वारंटीन खत्म कर दिया जाएगा. ऐसे में तुर्की के इस नए नियम से भारतीयों को खासा राहत मिलने वाली है.
12 साल से कम उम्र के बच्चों को पीसीआर टेस्ट की जरूरत नहीं
तुर्की के राजदूत फिरत सुनेल ने एक ट्वीट में कहा, 'यात्रियों को केवल निगेटिव पीसीआर टेस्ट और वैक्सीनेशन रिपोर्ट जमा करना है. कोवैक्सीन और कोविशील्ड दोनों वैक्सीनों को स्वीकार किया जाएगा. माता-पिता के साथ यात्रा कर रहे 12 से 18 साल के बच्चों को निगेटिव पीसीआर रिपोर्ट की जरूरत होगी. 12 साल से कम उम्र के बच्चों को पीसीआर टेस्ट की जरूरत नहीं होगी.' तुर्की लगभग उन 100 देशों की सूची में शामिल हो गया है, जिसके साथ भारत सरकार ने दो तरह के समझौते किए हैं. इनमें से पहला उन यात्रियों के लिए वैक्सीनेशन सर्टिफिकेट को पारस्परिक मान्यता देना है, जिन्होंने राष्ट्रीय स्तर पर या WHO द्वारा मंजूर वैक्सीन लगवाई है. वहीं, दूसरा फुली वैक्सीनेटेड यात्रियों को प्रवेश की अनुमति देना शामिल है.
WHO ने तीन नवंबर को दी कोवैक्सीन को मंजूरी
'कैटेगरी ए' देशों की सूची में ऑस्ट्रेलिया, बांग्लादेश, कनाडा, मिस्र, ईरान, इजरायल, मॉरीशस, फिलीपींस, सिंगापुर, सूडान, ब्रिटेन, संयुक्त अरब अमीरात और अमेरिका सहित 99 देश शामिल हैं. स्वदेशी रूप से विकसित और निर्मित कोवैक्सीन को WHO द्वारा 3 नवंबर को आपातकालीन उपयोग सूची (EUL) में शामिल किया गया. कोवैक्सीन और कोविशील्ड के जरिए भारत में वैक्सीनेशन किया जा रहा है. कोविशील्ड एस्ट्रेजेनका का भारतीय वेरिएंट है. WHO द्वारा वैक्सीन की मंजूरी से पहले ही कुछ देशों ने कोवैक्सीन को राष्ट्रीय नियामक मंजूरी दे दी थी.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta