विश्व

तुर्की: कई दिनों पहले हुई मालिक की मौत, तब से इंतजार में कब्र के पास ही है डॉग

Gulabi
8 Nov 2021 4:23 PM GMT
तुर्की: कई दिनों पहले हुई मालिक की मौत, तब से इंतजार में कब्र के पास ही है डॉग
x
जर्मन शेफर्ड नस्ल के कुत्ते फेरो अपने मालिकी की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है

कुत्ता न केवल एक वफादार जानवर होता है, बल्कि इंसानों का सबसे अच्छा दोस्त भी होता है. यही वजह है कि लोग अपने घरों में कुत्ते को बड़े प्यार से पालते हैं. इन दिनों तुर्की का एक ऐसा ही वफादार कुत्ता चर्चा में है, जो अपनी मालिक की मौत के बाद उसकी कब्र से हटने को तैयार नहीं है. यह कुत्ता सदमे में है. पिछले एक हफ्ते से मालिक की कब्र के पास ही बैठा हुआ है और उसके आने का इंतजार कर रहा है.


जर्मन शेफर्ड नस्ल के कुत्ते फेरो अपने मालिकी की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है. उसकी यकीन ही नहीं हो रहा कि उसका मालिक अब इस दुनिया में नहीं है. बता दें कि मृतक ओमर गुवेन करीब 11 साल से इस कुत्ते को पाल रहा था. 29 अक्टूबर को ओमर की मौत हो गई. इसके बाद से फेरो उसकी कब्र के पास इस इंतजार में बैठा है कि ओमर लौटकर आएंगे. कुत्ते के इस प्यार के बारे में जिसने भी सुना भावुक हो गया.

ओमर तुर्की के ट्राबजॉन प्रोविंस में रहते थे. अपनी पत्नी की मौत के बाद उन्होंने फेरो को अपने पास रख लिया था. लोकल मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, ओमर कोyw पालतू जानवरों से बेहद लगाव था. वे अपने घर में कुत्तों और बिल्लियों का खास खयाल रखते थे. उनकी सोसाइटी के लोग उन्हें एनिमल लवर्स के तौर पर उन्हें देखते थे. लोगों का कहना है कि ओमर की आधी जान उनके पालतू जानवरों में बसती थी.

मृतक ओमर ने फेरो को छोटी सी उम्र से ही पाला था. वक्त के साथ-साथ दोनों के बीच प्यार काफी गहराता चला गया. यही वजह है कि फेरो अपने मालिक की मौत का सदमा बर्दाश्त नहीं कर पा रहा है. एक हफ्ते पहले 92 साल के ओमर को सीने में दर्द की शिकायत के बाद अस्पताल ले जाया गया. जहां उनकी मौत हो गई. रिपोर्ट्स के मुताबिक, जब लोग ओमर को कॉफिन में डाल रहे थे, तब फेरो टकटकी लगाए उन्हें देख रहा था. यही नहीं, ओमर को दफनाने के बाद भी फेरो ने उसका साथ नहीं छोड़ा. वह तब से ही अपने मालिक की कब्र पर लेटा हुआ है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2023 Janta Se Rishta