विश्व

यूएनएससी में टीएस तिरुमूर्ति बोले- युद्ध से तेल की कीमतें आसमान छू रहीं, बुका में नागरिकों की हत्या पर स्वतंत्र जांच की मांग

Renuka Sahu
6 May 2022 2:01 AM GMT
TS Tirumurti at UNSC said – oil prices skyrocketed due to war, demand for independent investigation on killing of civilians in Buka
x

फाइल फोटो 

यूएनएससी में गुरुवार को भारत के स्थायी राजदूत टीएस तिरुमूर्ति ने रूस के यूक्रेन पर हमले के बाद भारत में उभरती खाद्य और तेल की स्थिति पर चिंता व्यक्त की।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। यूएनएससी में गुरुवार को भारत के स्थायी राजदूत टीएस तिरुमूर्ति ने रूस के यूक्रेन पर हमले के बाद भारत में उभरती खाद्य और तेल की स्थिति पर चिंता व्यक्त की। उन्होंने यूक्रेन पर यूएनएससी में कहा कि दो देशों के बीच संघर्ष व्यापक क्षेत्रीय और वैश्विक प्रभाव डाल रहा है।

तेल की कीमतें आसमान छू रही
तिरुमूर्ति ने कहा कि यूक्रेन और रूस के बीच युद्ध से तेल की कीमतें आसमान छू रही हैं और खाद्यान्न और उर्वरकों की कमी है। इसका वैश्विक दक्षिण और विकासशील देशों पर प्रतिकूल प्रभाव पड़ा है। ऊर्जा सुरक्षा समान रूप से एक गंभीर चिंता है और सभी के प्रयासों के माध्यम से ठीक करने की जरूरत है।
भारत के स्थायी राजदूत तिरुमूर्ति ने एक बार फिर दोहराया कि यूक्रेन के संघर्ष की शुरुआत से ही भारत शांति, संवाद और कूटनीति के पक्ष में रहा है। हम मानते हैं कि खून बहाकर और निर्दोष जीवन की कीमत पर कोई समाधान नहीं निकाला जा सकता है।
बुका में नागरिकों की हत्या की कड़ी निंदा की
उन्होंने कहा कि संघर्ष के कारण लोगों की जान गई है और अनगिनत परेशान हुए हैं, खासकर महिलाओं, बच्चों और बुजुर्गों के लिए, लाखों लोग बेघर हो गए हैं और पड़ोसी देशों में शरण लेने के लिए मजबूर हो गए हैं। तिरुमूर्ति ने आगे कहा कि भारत ने बुका में नागरिकों की हत्या की कड़ी निंदा की है और स्वतंत्र जांच के आह्वान का समर्थन किया है।
संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस की प्रशंसा की
वहीं तिरुमूर्ति ने अपने बयान में संयुक्त राष्ट्र महासचिव एंटोनियो गुटेरेस की प्रशंसा की। उन्होंने गुटेरेस की हाल की मॉस्को और कीव यात्रा और रूसी संघ और यूक्रेन के नेतृत्व के साथ उनके जुड़ाव का भी स्वागत किया।
तिरुमूर्ति ने कहा कि हम इस बात से सहमत हैं कि तत्काल प्राथमिकता तीव्र लड़ाई वाले क्षेत्रों से निर्दोष नागरिकों को निकालने की है। हम मैरियूपोल से नागरिक आबादी को निकालने में संयुक्त राष्ट्र के प्रयासों की सराहना करते हैं। हमें उम्मीद है कि ये प्रयास अन्य क्षेत्रों में भी विस्तारित होंगे।
उन्होंने कहा कि भारत मानवीय गलियारों के माध्यम से आवश्यक मानवीय और चिकित्सा आपूर्ति प्रदान करने के लिए सुरक्षित मार्ग की गारंटी के आह्वान का समर्थन करता है।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta