विश्व

पृथ्वी की ओर आर रहे तीन छुद्रग्रह, इनकी स्पीड 14400 किमी प्रति घंटे से ज्यादा

Neha
15 Jan 2022 6:26 AM GMT
पृथ्वी की ओर आर रहे तीन छुद्रग्रह, इनकी स्पीड 14400 किमी प्रति घंटे से ज्यादा
x
नासा ने अबतक 20000 से अधिक ऐसे आकाशीय पिंडों की खोज की है, जिसे नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट की सूची में शामिल किया गया है।

पृथ्वी की ओर एम्पायर स्टेट बिल्डिंग से भी बड़े तीन छुद्रग्रह तेजी से बढ़ रहे हैं। अमेरिकी अंतरिक्ष एजेंसी नासा ने बताया है कि इन तीनों छुद्रग्रहों को आज यानी 14 जनवरी की आधी रात के बाद पृथ्वी के सबसे करीब देखा जा सकता है। पहले एक छुद्रग्रह पृथ्वी के करीब आएगा, उसके कुछ देर बाद बाकी के दोनों छुद्रग्रह दिखाई देंगे। नासा के अनुसार, इन तीनों छुद्रग्रहों की स्पीड करीब 14400 किलोमीटर प्रति घंटा है।

पहले वाले की लंबाई 381 मीटर से अधिक
इन तीनों छुद्रग्रहों में सबसे बड़ा 2022 AG है। इसकी लंबाई एम्पायर स्टेट बिल्डिंग (381 मीटर) के बराबर बताया जा रहा है। नासा ने इस छुद्रग्रह को नियर अर्थ ऑब्जेक्ट के रूप में क्लॉसिफाइड किया है। यह खगोलीय पिंड 14 जनवरी की रात को धरती के पास से गुजरेगा। बाकी के दो छुद्रग्रह इसके ही आसपास नजदीक पहुंचेंगे। तीनों छुद्रग्रहों के रास्ते को नासा के वैज्ञानिक ट्रैक कर रहे हैं।
बाकी के दो छुद्रग्रहों की लंबाई जानिए
बाकी के दो छुद्रग्रहों की पहचान 2022 AA4 और 2022 AF5 के रूप में की गई है। इनमें 2022 AA4 का आकार 28 मीटर और 2022 AF5 की लंबाई 16 मीटर है। ऐसे में इनके रास्ते में थोड़ा सा भी बदलाव पृथ्वी के लिए आपदा का कारण बन सकता है। लेकिन, नासा ने बताया है कि ये तीनों छुद्रग्रह धरती से सुरक्षित दूरी से निकल जाएंगे। ऐसे में धरती पर कोई खतरा नहीं है।
17 मीटर लंबे ऐस्टरॉइड ने रूस में बरपाया था कहर
2013 में रूस के चेल्याबिंस्क क्षेत्र में 17 मीटर लंबा एक उल्कापिंड गिरा था। इस उल्कापिंड की ताकत इतनी ज्यादा थी कि इससे इलाके के 7000 से अधिक घरों को नुकसान पहुंचा था। इस उल्कापिंड के धरती से टकराने के कारण 33 मिलियन डॉलर से अधिक का नुकसान हुआ था। वह भी ऐसे इलाके में जहां जनसंख्या का घनत्व भारत, बांग्लादेश और पाकिस्तान की तुलना मे काफी मामूली है
पृथ्वी के करीब आने वाले ऐस्टरॉइड्स पर नासा की नजर
नासा ने इस सभी छुद्रग्रहों को नियर अर्थ ऑब्जेक्ट्स की सूची में शामिल किया है। नासा ने 20वीं सदी के अंत में नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट प्रोग्राम लॉन्च किया था। इसका उद्देश्य ऐसे आकाशीय पिंडों की खोज करना था, जो हमारी पृथ्वी की कक्षा के नजदीक आ सकती हैं। नासा ने अबतक 20000 से अधिक ऐसे आकाशीय पिंडों की खोज की है, जिसे नियर-अर्थ ऑब्जेक्ट की सूची में शामिल किया गया है।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it