विश्व

इस पाकिस्तानी को माना जा रहा है काबुल एयरपोर्ट पर हुए हमले का मास्टरमाइंड

Gulabi
28 Aug 2021 1:18 PM GMT
इस पाकिस्तानी को माना जा रहा है काबुल एयरपोर्ट पर हुए हमले का मास्टरमाइंड
x
काबुल एयरपोर्ट पर हुए आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी लेने वाले चर्चा में है।

काबुल एयरपोर्ट पर हुए आत्मघाती हमले की जिम्मेदारी लेने वाले आइएस-खुरासान का सरगना मौलवी असलम फारूकी (Aslam Farooqui) चर्चा में है। वह पाकिस्तानी है और उसे काबुल एयरपोर्ट पर गुरुवार को हुए हमले का मास्टरमाइंड माना जा रहा है। असलम (Aslam Farooqui) अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में पूर्व में हुए कई हमलों का भी मास्टरमाइंड है। उसी ने गत वर्ष मार्च में काबुल के एक गुरुद्वारे पर हमले की साजिश रची थी। इसमें कई अफगान सिखों और एक भारतीय की मौत हुई थी।

आइएस-खुरासान के आतंकी हक्कानी नेटवर्क के साथ मिलकर काबुल में हमलों को अंजाम देते हैं। विशेषज्ञों के अनुसार, पाकिस्तान की कुख्यात खुफिया एजेंसी आइएसआइ के इन दोनों आतंकी संगठनों से करीबी संबंध हैं। वह इन दोनों के जरिये अफगानिस्तान में तालिबान की गतिविधियों पर नजर रखती है।
अफगान बलों ने असलम (Aslam Farooqui) को गत वर्ष अप्रैल में गिरफ्तार कर लिया था लेकिन अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद बघराम की जेल से असलम समेत सभी आतंकियों को छोड़ दिया गया। वह यह स्वीकार कर चुका है कि उसके आइएसआइ से संबंध हैं। अब यह माना जाता है कि असलम फारूकी ही काबुल एयरपोर्ट पर हुए हमले का मास्टरमाइंड है जबकि तालिबान यह दावा करता है कि आइएस-खुरासान उसका कट्टर दुश्मन है।
दिलचस्प बात यह है कि गत 15 अगस्त को अफगानिस्तान पर कब्जे के बाद तालिबान ने ही असलम (Aslam Farooqui) को जेल से रिहा कर दिया था। बताया जाता है कि साल 2014 के आखिर में पहली बार अफगानिस्तान में आतंकी संगठन आइएस-खुरासान सामने आया था। यह आतंकी संगठन काबुल एवं अन्य शहरों में सरकारी ठिकानों और अन्य देशों के मिलिट्री बेस पर कई हमले कर चुका है। अमेरिका ने अप्रैल 2017 में आइएस-खुरासान के आतंकियों को निशाना बनाने के लिए पूर्वी अफगानिस्तान में अचिन जिले में एक ठिकाने पर मदर आफ आल बम गिराया था।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta