Top
विश्व

न्यूजीलैंड की मस्जिद पर हमले की कहानी दिखाएगी ये फिल्म, PM जेसिंडा को लेकर शुरू हुआ विवाद

Gulabi
11 Jun 2021 12:40 PM GMT
न्यूजीलैंड की मस्जिद पर हमले की कहानी दिखाएगी ये फिल्म, PM जेसिंडा को लेकर शुरू हुआ विवाद
x
न्यूजीलैंड (New Zealand) की मस्जिदों पर एक बंदूकधारी के हमले और बड़ी संख्या

न्यूजीलैंड (New Zealand) की मस्जिदों पर एक बंदूकधारी के हमले और बड़ी संख्या में नमाजियों की हत्या पर प्रधानमंत्री जेसिंडा आर्डर्न (PM Jacinda Ardern) की प्रतिक्रिया पर बनने वाली एक फिल्म पर विवाद पैदा हो गया है और कहा जा रहा है कि इस फिल्म में उनका पक्ष नहीं दिखाया गया जो हमले में मारे गए थे. हॉलीवुड (Hollywood) पर न्यूज देने वाली ऑनलाइन पत्रिका 'डेडलाइन' की खबर के अनुसार ऑस्ट्रेलियाई अभिनेत्री रोज बायर्न 'दे आर अस' नाम से बनने वाली फिल्म में आर्डर्न का किरदार निभाने वाली हैं.

फिल्म में, क्राइस्टचर्च स्थित दो मस्जिदों में 2019 में हुए हमलों के बाद के दिनों की परिस्थिति को दर्शाया जाएगा. डेडलाइन के अनुसार, फिल्म में यह दिखाया जाएगा कि आर्डर्न ने उन हमलों पर किस प्रकार प्रतिक्रिया दी थी और कैसे उनके आह्वान पर लोगों ने सहानुभूति तथा एकता का प्रदर्शन करते हुए रैलियां निकाली थीं.
भाषण से लिया गया शीर्षक
फिल्म में यह भी दिखाया जाएगा कि प्रधानमंत्री ने कैसे 'सेमी आटोमेटिक' हथियारों पर प्रतिबंध लगाने में सफलता पाई. फिल्म का शीर्षक हमले के बाद आर्डर्न द्वारा दिए गए भाषण से लिया गया है जिसे दुनियाभर से सराहना मिली थी. न्यूजीलैंड में बहुत से लोग इस फिल्म के निर्माण से चिंतित हैं.
संवेदनशील तरीके से किया जाए निर्माण
हमले में मारे गए हुसैन के छोटे भाई अया अल उमरी ने ट्विटर पर अपनी नाराजगी व्यक्त की. 'मुस्लिम एसोसिएशन ऑफ कैंटरबरी' के प्रवक्ता अबदिगानी अली ने कहा कि मुस्लिम समुदाय को लगा कि हमलों की कहानी बताई जानी चाहिए लेकिन हम चाहते कि यह सुनिश्चित किया जाए कि यह काम उचित, सही और संवेदनशील तरीके से किया जाना चाहिए.
लेखिका और वकील टीना नगाटा ने ट्वीट किया कि मुस्लिमों की हत्या के परिप्रेक्ष्य में एक श्वेत महिला की ताकत का प्रदर्शन नहीं किया जाना चाहिए. प्रधानमंत्री कार्यालय की ओर से जारी एक संक्षिप्त बयान में कहा गया कि फिल्म से आर्डर्न या उनकी सरकार का कोई संबंध नहीं है. बायर्न के एजेंट और 'फिल्म नेशन' ने अभी तक इस फिल्म पर कोई टिप्पणी नहीं की है.
सदस्यों के परामर्श से लिखी गई कहानी
पत्रिका 'वैराएटी' की खबर के अनुसार, फिल्म की कहानी एंड्रयू निकोल ने लिखी है और वह ही इसका निर्देशन करेंगे. त्रासदी से प्रभावित मस्जिदों के कई सदस्यों के परामर्श से कहानी लिखी गई है. फिल्म का निर्माण ऐमन जमाल, स्टीवर्ट टिल, निकोल और फिलिप कैंपबेल कर रहे हैं.
बता दें कि न्यूजीलैंड के क्राइस्टचर्च शहर में 15 मार्च 2019 में एक श्वेत नस्लवादी बंदूकधारी ने दो मस्जिदों पर हमला कर 51 नमाजियों की हत्या कर दी थी और 40 अन्य घायल हुए थे.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it