विश्व

इंसानों के बीच 'असली टार्जन' की 8 साल में ही हो गई कैंसर से मौत, जंगलों में 40 साल तक गुजरा था स्वस्थ जीवन

Renuka Sahu
14 Sep 2021 6:04 AM GMT
इंसानों के बीच असली टार्जन की 8 साल में ही हो गई कैंसर से मौत, जंगलों में   40 साल तक गुजरा था स्वस्थ जीवन
x

फाइल फोटो 

जंगल में पले-बढ़े 'रियल लाइफ टार्जन' की इंसानों के बीच सिर्फ 8 साल गुजारने के बाद मौत हो गई

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। जंगल में पले-बढ़े 'रियल लाइफ टार्जन (Real Life Tarzan)' की इंसानों के बीच सिर्फ 8 साल गुजारने के बाद मौत हो गई. आधुनिक दुनिया से अलग जंगल में 40 साल तक जिंदगी बिताने वाले हो वैन लैंग (Ho Van Lang) के बारे में लोगों को 8 साल पहले पता चला था और फिर इंसानी सभ्यता के बीच लाया गया था.

कैंसर से हुई मौत

हो वैन लैंग (Ho Van Lang) जंगल में बेहद स्वस्थ जीवन बिताते थे, लेकिन इंसानों के बीच आने के सिर्फ 8 साल में ही लैंग को लिवर कैंसर हो गया और उसी से उनकी मौत हो गई. पिछले सोमवार (6 सितंबर) को लैंग ने दम तोड़ दिया.

पिता के साथ जंगल में रहते थे लैंग

साल 1972 में वियतनाम युद्ध के दौरान अमेरिकी बमबारी में हो वैन लैंग (Ho Van Lang) की मां और अन्य दो भाइयों की की मौत हो गई थी. इसके बाद अपने छोटे से बच्चे की जिंदगी बचाने के लिए लैंग के पिता जंगल में जाकर छिप गए और तब से ही बाप-बेटे जंगल में रहने लगे. उस समय लैंग की उम्र सिर्फ 2 साल थी.

इंसानी सभ्यता की नहीं थी जानकारी

हो वैन लैंग (Ho Van Lang) ने पिता के अलावा अपने जीवन में कभी किसी दूसरे इंसान को ही नहीं देखा था. लैंग को इंसानी सभ्यता, पहनावा, खान-पान के बारे में भी कोई जानकारी नहीं थी. वह जंगल में मिलने वाली चीजें खाकर और पेड़ों के पत्ते व छाल पहनकर रहते थे.

जंगल में लैंग का खाना

हो वैन लैंग (Ho Van Lang) और उनके पिता जंगल में फल, सब्जियां, शहद और कई तरह की मांल खाते थे. उनके खाने में बंदर, चूहे, सांप, छिपकली, मेंढक, चमगादड़, पक्षियों और मछली सहित कई तरह के मांस शामिल थे.

महिलाओं के बारे में नहीं थी जानकारी

इसके अलावा हो वैन लैंग (Ho Van Lang) ने कभी भी किसी महिला को नहीं देखा था और इसकी कोई जानकारी भी नहीं थी. इंसानों के बीच आने के बाद जब उनसे महिला के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि उनके पिता ने इसके बारे में कुछ नहीं बताया है.

मॉडर्न लाइफ में नहीं हो पाए एडजस्ट

डू कास्टवे नाम की एक कंपनी, जो लोगों को जंगलों में रहने के ट्रिक्स सिखाती है. इंसानों के बीच आने के बाद उस कंपनी के एलवरो सेरेजो ने हो वैन लैंग (Ho Van Lang) से मुलाकात की थी. उन्होंने बताया कि उनकी मौत इंसानी दुनिया में आने के बाद हुए बदलाव के कारण हुई है. लैंग तैयार खाद्य पदार्थ खाने लगे थे और शराब का भी पीने लगे लगे थे. उन्होंने कहा कि मैं लैंग के जाने से बहुत दुखी हूं, लेकिन मेरे लिए उनका जाना भी एक मुक्ति है क्योंकि मुझे पता है कि वह पिछले महीनों में पीड़ित थे.

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta