विश्व

कोरोना महामारी के कारण खराब नींद से गुजर रहे लोगों की तादाद बढ़कर हुई 60%

Neha Dani
13 Jun 2021 2:01 AM GMT
कोरोना महामारी के कारण खराब नींद से गुजर रहे लोगों की तादाद बढ़कर हुई 60%
x
जो आपके दिमाग को शांत करें और थकाऊ लगे।

अगर बिस्तर पर लेटते ही इन दिनों आपके दिमाग में खलबली मचने लगती है और ठीक ढंग से नींद नहीं आती तो ऐसा महसूस करने वाले आप अकेले नहीं हैं। महामारी काल में दुनियाभर में तनाव और घबराहट ने बड़ी तादाद में लोगों की नींद गायब कर दी है। जानकारों का मानना है, इस वक्त हम 'कोरोनासोम्निया' से गुजर रहे हैं , जिसमें हमारी नींद लगातार बिगड़ती जा रही है।

41 % वयस्कों ने कहा, उन्हें ज्यादा घबराहट रहती है
बीते साल अमेरिकन एकेडमी ऑफ स्लीप मेडिसिन ने जब हजारों वयस्कों पर एक सर्वे किया तो सामने आया कि केवल 20% ही खराब नींद से गुजर रहे थे। लेकिन, इसके 10 माह बाद इस साल जब दोबारा यह सर्वे हुआ तो महामारी के कारण खराब नींद से गुजर रहे लोगों की तादाद बढ़कर 60% हो गई।
इनमें से आधे लोगों ने माना कि उनकी नींद की गुणवत्ता काफी बिगड़ गई है। फिलहाल संक्रमण भले ही कम हो रहा हो , लेकिन 41 % वयस्कों ने कहा, उन्हें कोरोनाकाल की शुरुआत के मुकाबले इन दिनों ज्यादा घबराहट रहती है ।
निद्रा विशेषज्ञों ने बताए अच्छी नींद लेने के उपाय
विशेषज्ञों के मुताबिक, इसका एक सबसे प्रभावी उपचार कॉग्निटिव बिहेवियर थेरैपी (सीबीटी) है । इसके जरिये आपकी नींद को बिगाड़ रहे खयाल, चिंता, भावना और व्यवहार को नियंत्रित किया जाता है। यहां पेश सीबीटी प्रेरित कुछ तरीके अपनाकर आप नींद में सुधार ला सकते हैं....
25 मिनट का नियम सोने और जागने का नियम
जब भी रात में सोने जाएं और 25 मिनट तक नींद न आए या नींद टूटने के बाद दोबारा नहीं सो पाएं तो बिस्तर से उठ जाएं। यूनिवर्सिटी ऑफ कैलिफोर्निया में न्यूरोसाइंस विशेषज्ञ डॉ. मैथ्यू वॉल्कर के मुताबिक फौरन खड़े होकर कोई न कोई गतिविधि करने लगें, जो आपके दिमाग को शांत करें और थकाऊ लगे।


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta