विश्व

काबुल हमले में मारा गया तालिबान का कमांडर मुखलिस, गनी की कुर्सी पर बैठे तस्वीर हुई थी वायरल

Renuka Sahu
3 Nov 2021 3:44 AM GMT
काबुल हमले में मारा गया तालिबान का कमांडर मुखलिस, गनी की कुर्सी पर बैठे तस्वीर हुई थी वायरल
x

फाइल फोटो 

अफगानिस्‍तान में तालिबान का कब्जा होने के बाद आतंकी संगठन हक्‍कानी नेटवर्क को सबसे बड़ा झटका लगा है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। अफगानिस्‍तान (Afghanistan Crisis) में तालिबान का कब्जा (Taliban) होने के बाद आतंकी संगठन हक्‍कानी नेटवर्क (Haqanni Network) को सबसे बड़ा झटका लगा है. मंगलवार को काबुल के नजदीक सैन्य अस्पताल में हुए आत्मघाती हमले में सिराजुद्दीन हक्‍कानी के मुख्‍य सैन्‍य रणनीतिकार और काबुल के कमांडर हमदुल्ला मुखलिस (Maulvi Hamdullah Mukhlis)की मौत हो गई है. काबुल पर कब्‍जे के बाद हमदुल्‍ला ही सबसे पहले राष्‍ट्रपति अशरफ गनी (Ashraf Ghani) के ऑफिस में दाखिल हुआ था. तब अशरफ गनी की कुर्सी पर बैठे मौलवी हमदुल्ला मुखलिस की तस्‍वीरें वायरल हो गई थीं. हमदुल्‍ला तालिबान की स्‍पेशल फोर्स बद्री ब्रिगेड का कमांडर भी था. इसी ब्रिगेड को काबुल में सुरक्षा का जिम्‍मा दिया गया है.

समाचार एजेंसी एएफपी के मुताबिक इस हमले में 19 लोगों की मौत हो चुकी है, जबकि 50 लोग जख्मी हुए हैं. इस हमले की जिम्मेदारी फौरन किसी भी संगठन ने नहीं ली है. यह अगस्त में तालिबान के अफगानिस्तान की सत्ता पर काबिज़ होने का बाद अबतक का सबसे दुस्साहसी हमला है. पहले के हमलों की जिम्मेदारी इस्लामिक स्टेट के आतंकवादियों ने ली है जो तालिबान के दुश्मन हैं.
अफगानिस्‍तान के चर्चित पत्रकार बिलाल सरवरी ने ट्वीट करके कहा, 'आईएसआईएस के के आतंकी अब अपने पहले सबसे महत्‍वपूर्ण टारगेट की हत्‍या करने में सफल हो गए हैं. हमदुल्‍ला तालिबान का सबसे करिश्‍माई नेता था. इससे निश्चित रूप से तालिबानी नेतृत्‍व हिल गया होगा.'
बिलाल ने कहा कि आने वाले दिनों और महीनों में होने वाली घटनाओं पर हमें करीबी नजर रखनी होगी. उन्‍होंने सवाल किया, 'क्‍या यह अफगानिस्‍तान में एक नई अव्‍यवस्‍था की शुरुआत है? क्‍या इससे तालिबान का मनोबल प्रभावित होगा ? क्‍या इस हमले से आईएसआईएस के का मनोबल बढ़ेगा और वह तालिबान नेतृत्‍व के खिलाफ और ज्‍यादा हमले करेगा?'
तालिबान बोला- 15 मिनट में मारे गए सभी हमलावर
तालिबान के प्रवक्ता जबीहुल्ला मुजाहिद ने कहा कि विस्फोट 400 बेड वाले सरदार मोहम्मद दाउद खान अस्पताल के प्रवेश द्वार पर हुए. इसके बाद इस्लामिक स्टेट के बंदूकधारियों के एक समूह ने हमला किया, जिनमें से सभी 15 मिनट के भीतर मारे गए. मुजाहिद ने यह भी बताया कि तालिबान के स्पेशल फोर्सेज कमांडो टीम को हेलीकॉप्टर के जरिए अस्पताल परिसर में एयर ड्रॉप किया गया.
छह हमलावर आए थे जिनमें से दो को तालिबान ने पकड़ा
रक्षा मंत्रालय में तालिबान के अधिकारी हिबतुल्लाह जमाल ने कहा कि छह हमलावर आए थे, जिनमें से दो को पकड़ लिया गया है. उन्होंने यह नहीं बताया कि कितने लोगों की मौत हुई है या जख्मी हुए हैं. जमाल ने बताया, 'लोग हताहत हुए हैं जिनमें हमारे कर्मी और नागरिक शामिल हैं, लेकिन तत्काल हताहतों की संख्या स्पष्ट नहीं हो सकी है.'


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta