Top
विश्व

दुनिया के इन देशों में है भुखमरी सबसे ज्यादा...ये है सूची

Gulabi
18 Oct 2020 1:20 PM GMT
दुनिया के इन देशों में है भुखमरी सबसे ज्यादा...ये है सूची
x
ग्लोबल हंगर इंडेक्स की इस साल की सूची जारी हो चुकी है, जिसके मुताबिक भुखमरी के शिकार देशों में भारत 94वें नंबर पर है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। शोधकर्ताओं से ग्लोबल हंगर इंडेक्स की इस साल की सूची जारी हो चुकी है, जिसके मुताबिक भुखमरी के शिकार देशों में भारत 94वें नंबर पर है. हालांकि पिछले साल की तुलना में ये स्तर सुधरा है लेकिन तब भी हम आर्थिक तौर पर कमजोर माने जाने वाले पड़ोसी देशों जैसे बांग्लादेश, म्यांमार और पाकिस्तान से भी पीछे हैं. रिपोर्ट के अनुसार भारत की 14 फीसदी आबादी कुपोषण की शिकार है. इस बीच ये जानना भी जरूरी है कि कौन से देश हंगर इंडेक्स में सबसे ऊपर हैं

हैती को भुखमरी के शिकार देशों में सबसे ऊपर रखा गया है. यहां कई दूसरी परेशानियों के बीच बार-बार प्राकृतिक आपदाओं का आना भी एक वजह है. यही कारण है कि हैती की 55 प्रतिशत से ज्यादा आबादी गरीबी रेखा से नीचे रह रही है. वहीं तीन-चौथाई आबादी के पास रोजाना के गुजारे के लिए 140 रुपए से भी कम आमदनी होती है.

लीबिया और सूडान से घिरा हुआ देश चड भी ऐसा ही एक देश है, जहां बड़ी आबादी को खाने को भी नहीं मिल पा रहा. यहां पर कुपोषण इतना ज्यादा है कि 1 से 5 साल के बच्चों में मृत्युदर काफी ज्यादा है. हर 10 में से 1 बच्चा अपने पांचवे जन्मदिन से पहले नहीं बचता है. ये देश लगातार तीन सालों से हंगर इंडेक्स में सबसे प्रभावित देशों की सूची में है. यहां 39.6% लोग कुपोषण से प्रभावित हैं.

साउथ-ईस्ट एशिया का देश तिमोर लेस्ते की 1.2 से बड़ी आबादी खाने की कमी से बुरी तरह प्रभावित है. अधिकतर सूखे से जूझते इस देश में खेती-किसानी नहीं के बराबर होती है. लोगों में खाने की क्वालिटी और सेहत को लेकर जागरुकता नहीं है. पानी की गंदगी से होने वाली बीमारियों और खाने की कमी के कारण यहां 15 प्रतिशत से ज्यादा बच्चों की पांच साल से पहले मौत हो जाती है.

मेडागास्कर में भुखमरी इतनी ज्यादा है कि इसे ग्लोबल हंगर इंडेक्स में अलार्मिंग सूची में रखा गया है. कुपोषण के कारण लगभग 41.6% बच्चों का शारीरिक और मानसिक विकास पूरी तरह से नहीं हो पाता. मेडागास्कर में बार-बार साइक्लोन जैसी आपदाएं भी आती रहती हैं इसलिए भी यहां खेती को पर्याप्त बढ़ावा नहीं मिल सका.

दक्षिण अफ्रीकी देश मोजांबिक को भुखमरी से त्रस्त देशों की सूची में पांचवे नंबर पर रखा गया. साल 2015 में देश की हालत कुछ सुधरी थी लेकिन इसके बाद से वो लगातार नीचे आ रहा है. फिलहाल यहां की 32.6% आबादी यानी एक तिहाई लोग भुखमरी का शिकार हैं. कुपोषण के कारण बच्चों की विकास दर भी 42% प्रतिशत पर अटकी हुई है.

पश्चिमी अफ्रीका का एक देश लाइबेरिया भुखमरी से 10 सबसे ज्यादा प्रभावित देशों में लगातार कई सालों से है. नब्बे से दशक से लगभग 15 सालों तक चले गृह युद्ध के कारण देश की हालत लगातार खराब होती चली गई. साल 2014-16 में यहां इबोला का प्रकोप हुआ था. इस बार कोरोना का वैसा संक्रमण तो नहीं फैला लेकिन बंदी के कारण यहां भुखमरी की दर और बढ़ी.

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it