विश्व

South Korea ने की बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण, किम जोंग की बहन ने दे डाली धमकी

Renuka Sahu
16 Sep 2021 4:59 AM GMT
South Korea ने की बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण, किम जोंग की बहन ने दे डाली धमकी
x

फाइल फोटो 

उत्तर कोरिया और दक्षिण कोरिया ने एक-दूसरे से कुछ घंटों के अंतराल पर ही बैलिस्टिक मिसाइलों का परीक्षण किया है

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। उत्तर कोरिया (North Korea) और दक्षिण कोरिया (South Korea) ने एक-दूसरे से कुछ घंटों के अंतराल पर ही बैलिस्टिक मिसाइलों (Ballistic Missiles) का परीक्षण किया है. बैलिस्टिक मिसाइलों के इस परीक्षण के साथ ही प्रायद्वीप में हथियारों को लेकर मची होड़ तेज़ हो गई है. दक्षिण कोरिया के मिसाइल परीक्षण के बाद उत्तर कोरिया के तानाशाह किम जोंग उन (Kim Jong Un) की बहन किम यो जोंग ने दक्षिण कोरिया को धमकी दे डाली है. जोंग की बहन ने कहा कि दक्षिण कोरिया द्वारा किए गए मिसाइल परीक्षणों के बाद दोनों देशों के बीच संबंध खत्म हो सकते हैं.

किम जोंग की बहन ने दक्षिण कोरिया के राष्ट्रपति मून जेई इन के उस बयान की आलोचना की, जो उन्होंने मिसाइल परीक्षण के दौरान दिया. मून ने कहा था कि दक्षिण कोरिया की बढ़ती मिसाइल क्षमताएं उत्तर कोरिया के उकसावे के खिलाफ निश्चित तौर पर प्रतिरोधक का काम करेंगी. सरकारी मीडिया द्वारा जारी बयान में किम यो जोंग ने चेतावनी दी अगर वे उत्तर कोरिया को लेकर ऐसी बयानबाजी जारी रखेंगे, तो वे दक्षिण कोरिया के साथ द्विपक्षीय संबंधों को पूरी तरह खत्म कर देंगी.
दरअसल, उत्तर कोरिया ने अपने पूर्वी तट पर दो बैलिस्टिक मिसाइलें दागीं. बीते छह महीने में मिसाइलों के परीक्षण का यह पहला मामला है और साथ ही संयुक्त राष्ट्र के प्रस्तावों का उल्लंघन भी. इससे पूर्व ही दक्षिण कोरिया और चीन ने उत्तर कोरिया के परमाणु मसले पर चर्चा भी की थी. इन मिसाइल परीक्षणों को इस वार्ता से जोड़कर भी देखा जा रहा है.
उत्तर कोरिया के परीक्षण के कुछ घंटों बाद ही दक्षिण कोरिया ने भी अपनी पहली पनडुब्बी-प्रक्षेपित बैलिस्टिक मिसाइल का परीक्षण किया. हालांकि, दक्षिण कोरिया की ओर से एसएलबीएम के नाम से जानी जाने वाली इस मिसाइल का परीक्षण पहले से होना तय था ना कि उत्तर कोरिया के परीक्षण की प्रतिक्रिया.
इस परीक्षण के साथ ही दक्षिण कोरिया इस तरह की तकनीक में सक्षम दुनिया का सातवां देश बन गया है. परीक्षण के दौरान राष्ट्रपति मून जे-इन भी मौजूद रहे. उन्होंने कहा कि दक्षिण कोरिया के पास अब उत्तर कोरिया के उकसावे का जवाब देने के लिए पर्याप्त संसाधन हैं.
उन्होंने कहा कि दक्षिण कोरिया किसी भी समय उत्तर कोरिया के उकसावे का जवाब देने में सक्षम है. उन्होंने अपने हथियार कार्यक्रमों को जारी रखने की बात कही.
किम की बहन ने कहा कि उत्तर कोरिया बिना किसी खास देश को निशाना बनाए आत्मरक्षा के लिए अपनी सैन्य क्षमताओं का विस्तार कर रहा है और दक्षिण कोरिया भी अपनी सैन्य क्षमता का विस्तार कर रहा है. उन्होंने कहा, 'अगर राष्ट्रपति हमारे खिलाफ झूठी निंदा में शामिल होते हैं तो इसके बाद जवाबी कार्रवाई होगी और उत्तर-दक्षिण के संबंध पूरी तरह से खत्म होने की कगार पर पहुंच जाएंगे.'


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta