विश्व

रूस पर प्रतिबंध और यूक्रेन की मदद जारी रहेगी, जी 7 यूक्रेन को देगा 29.5 अरब डालर की आर्थिक मदद

Gulabi Jagat
27 Jun 2022 5:33 PM GMT
रूस पर प्रतिबंध और यूक्रेन की मदद जारी रहेगी, जी 7 यूक्रेन को देगा 29.5 अरब डालर की आर्थिक मदद
x
रूस पर प्रतिबंध और यूक्रेन की मदद
जी-7 शिखर सम्मेलन के दूसरे दिन सभी नेताओं ने यूक्रेन-रूस युद्ध पर बातचीत की। इसके साथ ही सम्मेलन में सभी नेताओं ने सयुंक्त रूप से बेलारूस को रूसी परमाणु मिसाइल ट्रांसफर करने को 'गंभीर चिंता' बताई। वहीं इटली के प्रधानमंत्री मारियो ड्रैगी ने सोमवार को कहा- G7 देश यूक्रेन के साथ एकजुट हैं क्योंकि रूस के खिलाफ युद्ध में हार सभी लोकतंत्रों के लिए हार होगी। पीएम ड्रैगी ने यूक्रेन के राष्ट्रपति वलोडिमिर जेलेंस्की के साथ एक सत्र के दौरान नेताओं से कहा, 'हम यूक्रेन के साथ एकजुट हैं, क्योंकि अगर यूक्रेन हारता है, तो सभी लोकतंत्र हार जाते हैं। अगर यूक्रेन हारता है, तो यह तर्क देना कठिन होगा कि लोकतंत्र सरकार का एक प्रभावी माडल है।'
जी 7 नेताओं के समूह ने सोमवार को कहा-
वे सभी विनाशकारी युद्ध के बीच रूस के खिलाफ व्यक्तिगत प्रतिबंध लगाना जारी रखना चाहते हैं।
अकारण और अनुचित युद्ध की निंदा करते हुए, नेताओं ने यूक्रेन को 29.5 बिलियन अमरीकी डालर के समर्थन का वादा किया है।
संयुक्त बयान नेताओं ने कहा-हम रूस द्वारा और बेलारूस द्वारा सहायता प्राप्त यूक्रेन के खिलाफ क्रूर, अकारण, अन्यायपूर्ण और अवैध आक्रमण के क्रूर, अकारण, अन्यायपूर्ण और अवैध युद्ध की निंदा करते हैं और इसकी निंदा करते हैं। हम इसे मान्यता नहीं देंगे। इस विनाशकारी युद्ध ने यूरोप से कहीं अधिक नाटकीय परिणाम उत्पन्न हुए हैं।'
उन्होंने कहा- 'हम जब तक आवश्यक हो, समन्वित प्रतिबंधों के अपने लक्षित उपयोग को जारी रखेंगे, हर स्तर पर एकजुट होकर काम करेंगे। प्रतिबंधों का हमारा उपयोग नियम-आधारित अंतर्राष्ट्रीय व्यवस्था के बचाव में है, जिसका रूस ने इतना गंभीर उल्लंघन किया है।' उन्होंने कहा कि वे यूक्रेन का समर्थन करना जारी रखेंगे।
नेताओं ने अपने सयुंक्त बयान में रूस पर नकेल कसने की बात कही। बयान में कहा, 'हम रूस को वैश्विक बाजार में भाग लेने से अलग करने और चोरी पर नकेल कसने के नए तरीकों का पता लगाना जारी रखेंगे। हम सोने सहित रूस के राजस्व को कम करने के लिए दृढ़ हैं। हम चोरी और बैकफिलिंग गतिविधियों को भी लक्षित करना जारी रखेंगे।
जी 7 देशों के नेता यूक्रेन को 29.5 अरब डालर का आर्थिक पैकेज देने के लिए सहमत हो गए हैं। इस धनराशि से यूक्रेन को 2022 में सरकारी मशीनरी चलाने और रूसी हमले से तबाह हुई आवश्यक जनसुविधाओं को बहाल करने में मदद मिलेगी। 2014 में क्रीमिया पर रूसी कब्जे के बाद से लेकर 2021 तक जी 7 देशों ने यूक्रेन को 60 अरब डालर से ज्यादा की सहायता दी है। जी 7 देशों के नेताओं ने साफ कर दिया है कि यूक्रेन को उनका समर्थन और सहायता जारी रहेगी। साथ ही रूस पर अधिक से अधिक दबाव डालने के लिए उस पर प्रतिबंध लगाने का सिलसिला भी जारी रहेगा।
जी 7 देश उन व्यक्तियों के खिलाफ प्रतिबंध लगाना जारी रखेंगे जिनके कारण या जिनके सहयोग से यूक्रेन पर हमला हो रहा है। यह अंतरराष्ट्रीय दबाव रूस के साथ ही उसके सहयोगी बेलारूस पर भी डाला जाएगा। संपन्न देशों के नेताओं ने यह बात यूक्रेन के राष्ट्रपति जेलेंस्की के साथ वीडियो लिंक के जरिये संवाद के बाद कही। नेताओं ने संकेत दिया कि मंगलवार को यूक्रेन की सहायता के लिए पैकेज घोषित किया जाएगा। इससे आर्थिक तंगी से जूझ रहे यूक्रेन को जरूरतें पूरी करने में काफी सहायता मिलेगी।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta