विश्व

इराक में अमेरिकी सेना के सैन्य अड्डे के पास में रॉकेट हमला, कोई हताहत नहीं

Neha Dani
5 Jan 2022 9:44 AM GMT
इराक में अमेरिकी सेना के सैन्य अड्डे के पास में रॉकेट हमला, कोई हताहत नहीं
x
ये हमले तब हुए हैं, जब अमेरिका के ठिकानों पर हमले को लेकर चेतावनी जारी की गई है.

इराक (Iraq) में अमेरिकी सेना (US Army) के सैन्य अड्डे (US Army Base) के पास में रॉकेट हमला (Rocket Attack) हुआ है. गठबंधन सेनाओं के ऐन अल-असद एयर फैसिलिटी (Ain al-Asad Air facility) की ओर आ रहे दो ड्रोन्स को मंगलवार को मार गिराया गया. ड्रोन हमलों के बाद अब रॉकेट हमला हुआ है. जिस अल-असद एयर बेस के पास हमला हुआ है, वह बगदाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट (Baghdad International Airport) के करीब ही मौजूद है. बता दें कि अल-असद बेस में ही अमेरिकी सैनिक मौजूद हैं. समाचार एजेंसी रॉयटर्स ने सैन्य सूत्रों का हवाला देते हुए ये बात कही है.

रिपोर्ट के मुताबिक, इस घटना में कोई भी घायल नहीं हुआ है. इसी बीच अल-जजीरा ने बताया कि बगदाद अंतरराष्ट्रीय एयरपोर्ट को आज कम से कम चार कत्युशा रॉकेटों द्वारा निशाना बनाया गया. अभी तक किसी भी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है. ये हमले तब हुए हैं, जब मंगलवार को अमेरिका के नेतृत्व वाले अंतरराष्ट्रीय सैन्य गठबंधन के एक अधिकारी ने कहा कि दो विस्फोटकों से लदे ड्रोन्स को इराक की वायु रक्षा द्वारा मार गिराया गया. ये ड्रोन्स ऐन अल-असद एरबेस को निशाना बनाने के लिए दागे गए थे. अल-असद जो बगदाद के पश्चिम में अमेरिकी सेना की मेजबानी करता है.
बगदाद एयरपोर्ट पर हुआ हमला
स्पुतनिक न्यूज के अनुसार, कारख से लॉन्च किए गए रॉकेटों की वजह से बुधवार की सुबह बगदाद एयरपोर्ट पर सायरन बजने लगे. रॉकेट बगदाद डिप्लोमैटिक सपोर्ट सेंटर (BDSC) के पास गिरे थे, जो बगदाद अंतरराष्ट्रीय एयपोर्ट पर स्थित है. ये रॉकेट टरमैक पर आकर गिरे थे, जिसकी वजह से कोई हताहत नहीं हुआ था. सोशल मीडिया पर कई वीडियो सामने आए हैं, जिसमें रॉकेट हमलों के बाद ही तस्वीरों को देखा जा सकता है. गौरतलब है कि यह हमला बगदाद इंटरनेशनल एयरपोर्ट पर अमेरिकी ड्रोन हमले की बरसी से पहले हुआ है, जिसमें ईरानी जनरल कासिम सुलेमानी की मौत हुई थी.
सुलेमानी की हत्या का बदला लेने की कही गई बात
अभी तक किसी भी समूह ने हमलों की जिम्मेदारी नहीं ली है. हालांकि, अधिकारियों ने कथित तौर पर बताया कि ड्रोन के पंखों में से एक पर 'सुलेमानी का बदला' शब्द लिखा हुआ था. अमेरिका के नेतृत्व वाले अंतरराष्ट्रीय गठबंधन के एक अधिकारी ने कहा कि ये हमले इराकी प्रतिष्ठानों और इराकी लोगों और उनकी रक्षा करने वाली सेना के खिलाफ हैं. ये हमले तब हुए हैं, जब अमेरिका के ठिकानों पर हमले को लेकर चेतावनी जारी की गई है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta