विश्व

अमेरिका के चक्रवात प्रभावित प्रांतों में राहत कार्य जारी, अब भी कई लापता

Renuka Sahu
14 Dec 2021 1:57 AM GMT
अमेरिका के चक्रवात प्रभावित प्रांतों में राहत कार्य जारी, अब भी कई लापता
x

फाइल फोटो 

अमेरिका के चक्रवात प्रभावित प्रांतों में तीसरे दिन भी राहत व बचाव कार्य जारी रहा। केंटुकी प्रांत में ध्वस्त हो चुके मकानों व प्रतिष्ठानों का मलबा फैला हुआ है।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। अमेरिका के चक्रवात प्रभावित प्रांतों में तीसरे दिन भी राहत व बचाव कार्य जारी रहा। केंटुकी प्रांत में ध्वस्त हो चुके मकानों व प्रतिष्ठानों का मलबा फैला हुआ है। राहतकर्मी काफी संभलकर काम कर रहे हैं, ताकि कोई जीवित हो तो उसे नुकसान न पहुंचे। मलबे से कई लोगों की लाशें बरामद हुईं, जबकि कई अब भी लापता हैं। पोप फ्रांसिस ने सोमवार को आपदा पर दुख जताया।

केंटुकी के मेफील्ड स्थित मोमबत्ती फैक्ट्री के प्रवक्ता ने आठ लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है, जबकि आठ कर्मचारी अब भी लापता हैं। प्रवक्ता ने बताया कि 90 से ज्यादा कर्मचारियों का पता लगा लिया गया है। जब चक्रवात आया था, तब फैक्ट्री में 110 लोग काम कर रहे थे। इस बीच रविवार को चर्चो में प्रार्थना सभाएं आयोजित हुईं, जिनमें लोगों की सलामती की दुआ की गई।
राहतकर्मियों को मलबे से बैग, जूतों के जोड़े और सेलफोन जैसी चीजें बरामद हो रही हैं, जिससे आशंका जताई जा रही है कि मृतकों की संख्या बढ़ भी सकती है। इलिनोइस, टेनेसी, अर्कसास व मिसौरी में कम से कम 14 लोगों के मारे जाने की सूचना है। अधिकारी नुकसान व हताहतों का सटीक मूल्यांकन नहीं कर पा रहे हैं, क्योंकि प्रभावित क्षेत्रों में राहत अभियान चलाने में परेशानी आ रही है। घरों के दरवाजे आड़े-तिरछे हो गए हैं और कई तो पूरी तरह बंद हो चुके हैं। हादसे की काली रात की यादें लोगों को विचलित कर देती हैं।
मेफील्ड स्थित मोमबत्ती फैक्ट्री की कर्मचारी आटम कि‌र्क्स काम कर रही थीं और ब्वायफ्रेंड वार्ड उनसे महज 10 फीट दूर थे। वह मोम व इत्र के ड्रम से सुरक्षित स्थान बनाने का प्रयास कर रही थीं कि चक्रवात उनके पीछे की दीवार के साथ-साथ वार्ड को भी उड़ा ले गया। अगले दिन पता चला कि उनके ब्वायफ्रेंड वार्ड की मौत हो चुकी है।उल्लेखनीय है कि केंटुकी के गवर्नर एंडी बेशियर इसे राजकीय आपदा घोषित कर चुके हैं, जिस पर राष्ट्रपति बाइडन ने मुहर भी लगा दी है। बेशियर ने पहले 100 से ज्यादा लोगों के मारे जाने की आशंका जताई थी।
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta