विश्व

क्वाड ने चीन को घेरने के लिए हिंद-प्रशांत क्षेत्र में 50 अरब डालर निवेश का संकल्प जताया

Renuka Sahu
25 May 2022 1:07 AM GMT
Quad pledges to invest $ 50 billion in the Indo-Pacific region to surround China
x

फाइल फोटो 

हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन की बढ़ती दखल के बीच जापान की राजधानी टोक्यो में मंगलवार को क्वाड की बैठक हुई। आ

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। हिंद प्रशांत क्षेत्र में चीन की बढ़ती दखल के बीच जापान की राजधानी टोक्यो में मंगलवार को क्वाड की बैठक हुई। आस्ट्रेलिया, भारत, जापान और अमेरिका के नेताओं की बैठक के बाद जारी एक बयान में कहा गया है कि क्वाड अगले पांच सालों में इंडो-पैसिफिक में 50 बिलियन अमरीकी डालर से अधिक की बुनियादी ढांचा सहायता और निवेश का संकल्प जताया। सम्मेलन के बाद जारी संयुक्त बयान में कहा कि हम यानी क्वाड देश, ऋण के मुद्दों के निराकरण के लिए भी प्रतिबद्धता साझा करते हैं, जो कई देशों में महामारी की वजह बढ़ गई है।

बुनियादा ढांचों को संवारेगा क्वाड

बयान में कहा गया है कि क्वाड पार्टनर दशकों के कौशल और अनुभव को एक साथ जोड़कर क्षेत्र में बुनियादी ढांचे को संवारने के लिए काम करेंगे। क्वाड देश मिलकर सार्वजनिक और निजी निवेश को चलाने के लिए भागीदारों और क्षेत्र के साथ मिलकर काम करने के लिए प्रतिबद्धता जताई है। बयान में आगे कहा गया है कि अगले पांच सालों में भारत-प्रशांत क्षेत्र में 50 बिलियन अमरीकी डालर की बुनियादी ढांचा सहायता और निवेश किया जाएगा।

बयान में आगे कहा गया है कि क्वाड जी-20 कामन फ्रेमवर्क के तहत ऋण के मुद्दों से निपटने के लिए और 'क्वाड डेट मैनेजमेंट रिसोर्स पोर्टल' सहित संबंधित देशों के वित्त अधिकारियों के साथ निकट सहयोग में ऋण स्थिरता और पारदर्शिता को बढ़ावा देने के लिए देशों की क्षमताओं को मजबूत करने के लिए काम करेंगे। जिसमें बहुपक्षीय और बहुपक्षीय क्षमता निर्माण सहायता शामिल है।

कई क्षेत्रों में सहयोग को बढ़ाएंगे क्वाड देश

बयान में कहा गया है कि क्वाड देश मिलकर क्षेत्रीय और डिजिटल कनेक्टिविटी, स्वच्छ ऊर्जा, और ऊर्जा से संबंधित सुविधाओं में आपदा लचीलापन सहित जलवायु लचीलापन जैसे पहचाने गए क्षेत्रों में सहयोग को और गहरा करेंगे। बता दें कि क्वाड बैठक में प्रधान मंत्री नरेंद्र मोदी, ऑस्ट्रेलियाई प्रधान मंत्री एंथनी अल्बनीस, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बिडेन और जापानी प्रधान मंत्री फुमियो किशिदा ने भाग लिया।

Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta