विश्व

प्रधानमंत्री का वीचैट अकाउंट हैक, सांसदों ने सरकार पर लगाए गंभीर आरोप

Neha Dani
24 Jan 2022 11:15 AM GMT
प्रधानमंत्री का वीचैट अकाउंट हैक, सांसदों ने सरकार पर लगाए गंभीर आरोप
x
इस गठबंधन के तहत ऑस्ट्रेलिया को परमाणु पनडुब्बी मुहैया कराई जानी है.

ऑस्ट्रेलिया के प्रधानमंत्री स्कॉट मॉरिसन (Scott Morrison) का चीनी सोशल मीडिया ऐप वीचैट (WeChat) पर बना अकाउंट हैक हो गया है. देश के शीर्ष सांसदों ने सोमवार को चीनी नेताओं पर सोशल मीडिया पर राजनीतिक हस्तक्षेप करने का आरोप लगाया. उन्होंने कहा है कि प्रधानमंत्री के अकाउंट पर अब उनका कंट्रोल नहीं है.

प्रधानमंत्री के अकाउंट की बदल दी जानकारी
सिडनी के 'द डेली टेलीग्राफ' के मुताबिक, जनवरी की शुरुआत में मॉरिसन के 76 हजार से अधिक वीचैट फॉलोअर को उनके अकाउंट का नाम बदलकर 'ऑस्ट्रेलियन चायनीज न्यू लाइफ' किए जाने की जानकारी दी गई थी. यही नहीं, अकाउंट से मॉरिसन की तस्वीर भी हटा दी गई थी.
बिना परमिशन के कर दी प्रोफाइल चेंज
अखबार ने दावा किया कि ये बदलाव ऑस्ट्रेलियाई सरकार के संज्ञान में लाए बगैर ही किए गए थे. हालांकि, मॉरिसन के कार्यालय ने रिपोर्ट पर प्रतिक्रिया करने से इनकार कर दिया. ऑस्ट्रेलिया में खुफिया एवं सुरक्षा मामलों की संयुक्त संसदीय समिति के अध्यक्ष जेम्स पैटर्सन ने कहा कि वीचैट ने मॉरिसन के अकाउंट को बहाल किए जाने के सरकार के आग्रह पर अभी तक कोई जवाब नहीं दिया है.
चीनी कंपनी के ऐप का बहिष्कार करने की अपील
पैटर्सन ने आरोप लगाया कि चीन की कम्युनिस्ट पार्टी ऑस्ट्रेलिया में मई में प्रस्तावित चुनावों के मद्देनजर मॉरिसन को सेंसर कर रही है. उन्होंने कहा कि यह कदम ऑस्ट्रेलियाई लोकतंत्र में राजनीतिक दखल देने की कोशिश करने का सरीखा है. मॉरिसन की लिबरल पार्टी के सदस्य पैटर्सन ने सभी सांसदों से चीनी कंपनी 'टेनसेंट' की ओर से संचालित इस ऐप का बहिष्कार करने की अपील भी की.
'चीनी सरकार की है दखलअंदाजी'
उन्होंने कहा कि यह गंभीर चिंता का विषय है कि वीचैट पर सक्रिय 12 लाख चीनी-ऑस्ट्रेलियाई नागरिकों की मॉरिसन सरकार से आने वाली खबरों तक पहुंच बाधित हो गई है, लेकिन वे विपक्षी नेता एंथोनी अल्बानीज द्वारा की जाने वाली सरकार की आलोचनाओं को आराम से देख-पढ़ सकते हैं. लिबरल पार्टी के एक अन्य सांसद एवं पूर्व राजनयिक डेव शर्मा ने आरोप लगाया कि इस दखलअंदाजी को संभवत: चीन सरकार ने मंजूरी दी है.
चीन सितंबर 2021 में ऑस्ट्रेलिया, ब्रिटेन और अमेरिका के बीच घोषित एक नए गठबंधन का आलोचक रहा है. इस गठबंधन के तहत ऑस्ट्रेलिया को परमाणु पनडुब्बी मुहैया कराई जानी है.


Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta