Top
विश्व

प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा ने ताइवान को बताया 'देश', तो तिलमिलाया ड्रैगन, दे दी ये चेतावनी

Gulabi
10 Jun 2021 3:22 PM GMT
प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा ने ताइवान को बताया देश, तो तिलमिलाया ड्रैगन, दे दी ये चेतावनी
x
जापान के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा

चीन (China) ने गुरुवार को कहा कि उसने एक दिन पहले एक संसदीय बैठक के दौरान जापान (Japan) के प्रधानमंत्री योशीहिदे सुगा (Yoshihide Suga) द्वारा ताइवान का एक 'देश' के रूप में संदर्भ देने के बाद जापान को कड़ा विरोध दर्ज कराया है. साथ ही जापान को चेतावनी भी दी है. चीन ने जापान (Japan) पर स्व-शासित ताइवान (Taiwan) को एक देश के रूप में संदर्भित नहीं करने की अपनी प्रतिज्ञा को गंभीर रूप से भंग करने का आरोप लगाया, जिसे बीजिंग (Beijing) एक 'अलग क्षेत्र' के रूप में देखता है.

सुगा ने बुधवार को देश के द्विसदनीय विधायिका जापान की नेशनल डाइट की बैठक के दौरान ताइवान को एक देश के रूप में संदर्भित किया था. टोक्यो की रिपोर्ट के मुताबिक विदेशों में कोविड -19 महामारी की रोकथाम की रणनीतियों पर चर्चा करते हुए, सुगा ने ऑस्ट्रेलिया, न्यूजीलैंड और ताइवान को उन देशों के रूप में सूचीबद्ध किया, जिन्होंने 'निजी अधिकारों' पर कड़े प्रतिबंध अपनाए थे.
'जापान सुनिश्चित करे कि दोबारा ऐसा न हो'
चीनी विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता वांग वेनबिन ने गुरुवार को इसकी जानकारी दी. वांग ने एक प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि सुगा की टिप्पणी ने ताइवान को एक देश के रूप में नहीं मानने के जापान के वादे का गंभीर उल्लंघन किया है. वांग ने जापानी पक्ष से स्पष्ट करने और यह सुनिश्चित करने को कहा है कि इस तरह की घटना फिर कभी न हो.
उन्होंने जापान से अपने वादों का सम्मान करने, अपने शब्दों और कार्यों से सतर्क रहने और किसी भी तरह से चीन की संप्रभुता को नुकसान नहीं पहुंचाने का आग्रह किया. वांग ने कहा कि दुनिया में सिर्फ एक चीन है और ताइवान चीनी क्षेत्र का अभिन्न अंग है.
अमेरिका के साथ दर्ज कराया विरोध
बीते दिनों चीन ने तीन अमेरिकी सीनेटरों की ताइवान यात्रा को लेकर अमेरिका के साथ राजनयिक विरोध दर्ज कराया था. चीन ने कहा कि अमेरिका को ताइवान के साथ सभी तरह के आधिकारिक संपर्क बंद करने चाहिए. चीन की चिंता के बीच अमेरिकी सीनेटर कोविड टीके के दान की घोषणा करने के लिए एक सैन्य विमान से ताइवान गए.
वांग वेनबिन ने कहा था कि सीनेटरों की यात्रा को लेकर चीन ने अमेरिका के साथ गंभीर विरोध दर्ज कराया है. उन्होंने एक प्रेस कान्फ्रेंस में कहा कि अमेरिकी सीनेटरों की यात्रा से 'एक-चीन' सिद्धांत और तीन चीन-अमेरिका संयुक्त बयानों का गंभीर उल्लंघन हुआ है जबकि अमेरिका ने एक बार कहा था कि वह इसका पालन करेगा.
Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it