विश्व

पीएम नरेंद्र मोदी एक अमेरिकी दौरे से कई निशाने साधेंगे, अफगानिस्तान, चीन के साथ और किन मसलों पर होगी चर्चा ?

Renuka Sahu
14 Sep 2021 6:28 AM GMT
पीएम नरेंद्र मोदी एक अमेरिकी दौरे से कई निशाने साधेंगे, अफगानिस्तान, चीन के साथ और किन मसलों पर होगी चर्चा ?
x

फाइल फोटो 

पीएम नरेंद्र मोदी 24 सितंबर से अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन से वॉशिंगटन में मिलने वाले हैं।

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। पीएम नरेंद्र मोदी 24 सितंबर से अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन से वॉशिंगटन में मिलने वाले हैं। बाइडन के राष्ट्रपति बनने के बाद यह पहली बार होगा जब भारतीय पीएम अमेरिकी राष्ट्रपति से मुलाकात करेंगे। वाइट हाउस द्वारा जारी एक प्रेस रिलीज में कहा गया है कि अमेरिका पीएम मोदी का स्वागत करने को उत्सुक है। पीएम नरेंद्र मोदी इस दौरे पर एक साथ कई निशाना साधने की तैयारी में हैं। क्वाड ग्रुप की बैठक और संयुक्त राष्ट्र महासभा (UNGA) में भाषण के साथ ही वह जापान और ऑस्ट्रेलिया के पीएम और अमेरिकी राष्ट्रपति से भी मिल सकते हैं। ऐसे में एक्सपर्ट्स का मानना है कि भारत सितंबर के आख़िरी में एक साथ कई निशाना साधने की तैयारी में है। आइए जानते हैं कि क्वाड और UNGA ने किन मसलों पर बातचीत संभव है।

क्वाड की बात
भारतीय विदेश मंत्रालय ने अपने बयान में कहा है कि पीएम मोदी क्वाड की बैठक में ऑस्ट्रेलियाई राष्ट्रपति स्कॉट मॉरिसन, अमेरिकी राष्ट्रपति जो बाइडन और जापानी पीएम से मुलाकात करेंगे। इस मीटिंग में 12 मार्च 2021 को हुए सम्मेलन के बाद से हुई प्रगति की समीक्षा की जाएगी। इसके साथ ही साझा हित और क्षेत्रीय मसलों पर चर्चा की जाएगी। कोरोना महामारी, कोरोना वायरस वैक्सीन, कनेक्टिविटी और इन्फ्रास्ट्रक्चर, साइबर सुरक्षा, मानवीय सहायता, आपदा राहत, जलवायु परिवर्तन आदि पर भी बातचीत होगी। इसके साथ ही एक फ्री, खुले और समावेशी हिंद-प्रशांत महासागर क्षेत्र को लेकर भी बातचीत होगी। इस सबके इतर अफगानिस्तान के बदलते हालात पर भी विशेष चर्चा होने की संभावना है। रिपोर्ट्स बताती हैं कि क्वाड नेताओं से पीएम मोदी की द्विपक्षीय मीटिंग भी संभव है।
UNGA की बात
25 सितंबर को पीएम मोदी न्यूयॉर्क में UNGA के 76वें सत्र को संबोधित करेंगे। इस साल सामान्य बहस का विषय 'कोरोना वायरस से उबरने की आशा, स्थायी रूप से पुनर्निर्माण, ग्रहों की ज़रूरत, लोगों के अधिकारों का सम्मान करना और यूनाइटेड नेशंस को फिर से जीवित करना' आदि है। पीएम मोदी इन बातों के साथ ही अफगानिस्तान, आतंकवाद और यूनाइटेड नेशंस की सरंचना में बदलाव आदि पर अपनी बात रख सकते हैं।


Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it