विश्व

टीचर को लोगों ने दिए पैसे, स्टूडेंट बना फरिश्ता

jantaserishta.com
16 May 2022 8:43 AM GMT
टीचर को लोगों ने दिए पैसे, स्टूडेंट बना फरिश्ता
x

DEMO PIC

नई दिल्ली: अगर आपको अपनी खुद की कहानी बताने के बदले करोड़ों रुपए मिले तो आप खुद को कितने खुशनसीब समझेंगे. ऐसा ही कुछ हुआ न्यूयॉर्क के जोनाथन कोनयर्स के साथ. उन्होंने सोशल मीडिया पर खुद की कहानी वायरल हो जाने के बाद अपनी डिबेट क्लब के कोच K.M. DiColandrea के लिए 1.2 मिलियन डॉलर (लगभग 9 करोड़ 32 लाख रुपए) रुपये की जुटा दिए.

जोनाथन कोनयर्स ने हाल ही में सोशल मीडिया पेज 'Humans of New York' पेज पर अपनी कहानी सुनाई थी. 'Humans of New York' पेज पर न्यूयॉर्क के लोग अपनी पर्सनल स्टोरी साझा करते हैं. न्यूयॉर्क के ही रहने वाले जोनाथन कॉनयर्स ने भी इसी पेज पर अपनी कहानी सभी के साथ साझा की.
जोनाथन की कहानी वायरल हो गई और लोगों ने डिबेट कोच K.M. DiColandrea के लिए बड़ी रकम डोनेशन के तौर पर जमा कर दी. ब्रैंडन स्टैटम (Humans of New York) के फाउंडर ने जब कोनयर्स से उनकी कहानी बताने के बारे में कहा तब कोनयर्स ने निश्चय किया कि वह अपनी नहीं बल्कि अपने डिबेट कोच की कहानी साझा करेंगे.
DiColandrea और कोनयर्स पहली बार 2009 में मिले थे तब कोनयर्स 14 साल के थे. कोनयर्स को हार्लेम में फ्रेडरिक डगलस एकेडमी में भर्ती कराया गया था. स्कूल प्रिंसिपल ने कोनयर्स से स्कूल के बाद की कोई एक्टिविटी चुनने के लिए कहा. जिसके बाद कोनयर्स ने डिबेट चुना.
कोनयर्स डिबेट टीचर को डिको के नाम से बुलाते हैं. कोनयर्स के माता-पिता ड्रग एडिक्ट थे, जिसकी वजह से घर में उन्हें काफी परेशानी उठानी पड़ती थी. कोनयर्स ने बताया कि उनकी डिबेट टीचर ने उन्हें काफी मदद की.
कोनयर्स ने बताया कि मिस डिको ने जब भी जरूरत पड़ी उनकी मदद की, घर वालों की तरह ख्याल रखा. कानयर्स की कहानी साझा करने के बाद 'Humans Of New York' पेज के फाउंडर ब्रैंडन ने 'GoFundMe' के तहत फंडिंग की व्यवस्था की और 1.2 मिलियन डॉलर (लगभग 9 करोड़ 32 लाख रुपए) मिस डिको के लिए जमा हो गए.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta