विश्व

एस्टरॉयड पर हमला करेगा नासा का स्पेसक्राफ्ट, धरती को बचाने के लिए NASA और Spacex का अहम लॉन्च कल

Renuka Sahu
23 Nov 2021 3:35 AM GMT
एस्टरॉयड पर हमला करेगा नासा का स्पेसक्राफ्ट, धरती को बचाने के लिए NASA और Spacex का अहम लॉन्च कल
x

फाइल फोटो 

अमेरिकी स्पेस एजेंसी नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन और अंतरिक्ष के क्षेत्र में काम कर रही निजी कंपनी एस्पेसएक्स बुधवार यानी 24 नवंबर को एक स्पेसक्राफ्ट लॉन्च करने वाले है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। अमेरिकी स्पेस एजेंसी नेशनल एरोनॉटिक्स एंड स्पेस एडमिनिस्ट्रेशन (NASA) और अंतरिक्ष के क्षेत्र में काम कर रही निजी कंपनी एस्पेसएक्स (SpaceX) बुधवार यानी 24 नवंबर को एक स्पेसक्राफ्ट लॉन्च करने वाले है. यह अंतरिक्ष में चक्कर में लगा रहे एक एस्टरॉयड के चांद से टकराएगा. इस पूरी प्रक्रिया का मकसद यह जानना होगा कि क्या इससे एस्टेरॉयड के चांद की दिशा बदलेगी या नहीं. इसकी मदद से धरती को भविष्य में एस्टेरॉयड के हमलों से बचाने की सफलता मिल सकती है. नासा और स्पेसएक्स की योजना है कि इस स्पेसक्राफ्ट को 24 नवंबर को लॉन्च किया जाएगा. हालांकि अगर कोई दिक्कत आती है तब भी स्पेस एजेंसियों के पास फरवरी 2022 तक का समय है.

नासा का डबल एस्टेरॉयड रिडायकेशन टेस्ट (डार्ट- DART) मिशन यह जानने की पहली कोशिश है कि क्या इस तरह के एस्टेरॉयड की दिशा बदलने की कोशिश सच हो सकती है या नहीं. साथ ही इसके जरिए इसका भी पता लगाया जाएगा कि क्या कोई अंतरिक्ष यानएस्टेरॉयड की दिशा में बढ़कर उससे टकरा सकता है या नहीं. द गार्डियन के अनवसार वेल्स में नाइटन में नेशनल नियर अर्थ ऑब्जेक्ट्स इंफॉर्मेशन सेंटर के निदेशक जे टेट ने कहा 'अगर यह काम करता है, तो यह एक बड़ी बात होगी क्योंकि इससे यह साबित होगा कि हमारे पास खुद को बचाने की तकनीकी क्षमता है.'
क्या है डार्ट स्पेसक्राफ्ट
610 किलोग्राम वजनी डार्ट स्पेसक्राफ्टबुधवार को ब्रिटेन के समयानुसार सुबह करीब 6.21 बजे कैलिफोर्निया के वैंडेनबर्ग स्पेस फोर्स बेस से स्पेसएक्स फाल्कन 9 रॉकेट से रवाना होगा. इसका लक्ष्य डिडिमोस सिस्टम है. यह एस्टेरॉयड्स की एक जोड़ी है.अभी तक पृथ्वी को इससे कोई नुकसान नहीं है. इन एस्टेरॉयड्स में 163-मीटर 'मूनलेट' एस्टेरॉयड्स है, जिसे डिमोर्फोस कहा जाता है, जो डिडिमोस नामक एक बड़े 780-मीटर एस्टेरॉयड के इर्द गिर्द चक्कर लगाता है.
सूरज का चक्कर लगाते हुए ये एस्टेरॉयड्स कभी-कभी पृथ्वी के बहुत करीब से गुजरते हैं. नासा और स्पेसएक्स का प्लान है कि स्पेसक्राफ्ट को डिमोर्फोस से टक्कर कराने की है. जब टक्कर होगी तब यह एस्टेरॉयड्स पृथ्वी से 6.8 मिलियन मील दूर होंगे.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta