विश्व

पाकिस्तानी सेना के आगे झुके पत्रकार हामिद मीर, मांगी माफी

Neha
10 Jun 2021 2:56 AM GMT
पाकिस्तानी सेना के आगे झुके पत्रकार हामिद मीर, मांगी माफी
x
चीजों को सार्वजनिक कर सकते हैं।

मशहूर पाकिस्तानी पत्रकार और एंकर हामिद मीर ने पाकिस्तानी सेना के दबाव के आगे झुकते हुए अपनी टिप्पणी के लिए माफी मांगी। दरअसल, एक पत्रकार पर हमले के बाद सेना पर की गई अपनी कड़ी टिप्पणी के लिए उन पर प्रतिबंध लगा दिया गया था और उनकी नौकरी भी चली गई थी।

उन्होंने सेना से माफी मांगते हुए कहा कि उनका इरादा पाक सेना को बदनाम करने का नहीं था। जियो न्यूज चैनल के राजनीतिक चर्चा वाले शो 'कैपिटल टॉक' के लोकप्रिय एंकर हामिद मीर ने इस्लामाबाद में पत्रकार और यूट्यूबर असल अली तूर पर तीन अज्ञात लोगों के हमले के खिलाफ पत्रकारों के प्रदर्शन में 28 मई को भाषण दिया था। मीर ने देश के सैन्य प्रतिष्ठान की आलोचना करने वाले पत्रकारों पर लगातार हमले के मामले में जवाबदेही तय करने की मांग की थी।
मीर ने देश के सैन्य प्रतिष्ठान की आलोचना करने वाले मीडियाकर्मियों पर होने वाले सिलसिलेवार हमलों के मामले में जवाबदेही तय करने की मांग की थी। उनके 28 मई के भाषण के बाद 30 मई को उनकी सेवाएं रोक दी गई थीं। रावलपिंडी इस्लामाबाद यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स, नेशनल प्रेस क्लब और मीर द्वारा गठित समिति ने मंगलवार को जारी संयुक्त बयान में कहा कि उनका सेना को अपमानित करने का कोई इरादा नहीं था और वह तहेदिल से एक संस्था के रूप में सेना की इज्जत करते हैं।
दो हफ्ते पहले हुआ था पत्रकार पर हमला
पाकिस्तान में करीब दो हफ्ते पहले राजधानी इस्लामबाद के एक स्वतंत्र पत्रकार असद अली तूर को उनके घर से बाहर निकालकर तीन अज्ञात लोगों ने पीटा था। इसके साथ ही उन्हें ये चेतावनी भी दी गई कि वह अपना काम बंद कर दें। ये पत्रकार पाकिस्तान के सशस्त्र बलों के खिलाफ अकसर बोलने के लिए जाना जाता है। पुलिस ने जानकारी दी थी कि तूर को देर रात उनके घर से बाहर निकालकर बांधा गया और फिर उनके साथ मारपीट की गई। तूर अपना यूट्यूब चैनल भी चलाते हैं।
क्या कहा था हामिद मीर ने?
पाकिस्तान में हाल के दिनों में पत्रकारों पर बढ़े इस तरह के हमलों से परेशान होकर मीर ने कहा था कि जो लोग भी पत्रकारों पर हमले करने के जिम्मेदार हैं, उनकी पहचान उजागर की जा सकती है। इसके साथ ही उन्होंने अपने भाषण में कई बार पाकिस्तानी सेना की मिलीभगत को लेकर बहुत से शब्दों का जिक्र किया था। इस दौरान उन्होंने सैन्य प्रमुख कमर जावेद बाजवा का नाम लिया था। उन्होंने कहा था कि अगर आप हमारे घर में हम पर हमला करने के लिए घुस रहे हैं, तो ठीक है। हम आपके घर नहीं आ सकते क्योंकि आपके पास तो टैंक और बंदूके हैं, लेकिन हम आपके घरों में होने वाली चीजों को सार्वजनिक कर सकते हैं।

Next Story
© All Rights Reserved @Janta Se Rishta
Share it