विश्व

गाजा पट्टी में इजरायल ने लड़ाकू विमानों से बरसाए बम, हमास के ठिकानों को निशाना बनाकर की एयरस्ट्राइक, रॉकेट हमलों का दिया करारा जवाब

Renuka Sahu
2 Jan 2022 3:26 AM GMT
गाजा पट्टी में इजरायल ने लड़ाकू विमानों से बरसाए बम, हमास के ठिकानों को निशाना बनाकर की एयरस्ट्राइक, रॉकेट हमलों का दिया करारा जवाब
x

फाइल फोटो 

इजरायल की सेना ने रविवार सुबह कहा कि इसने गाजा पट्टी में आतंकी ठिकानों पर हमला किया है.

जनता से रिश्ता वेबडेस्क। इजरायल की सेना (Israel's military) ने रविवार सुबह कहा कि इसने गाजा पट्टी (Gaza Strip) में आतंकी ठिकानों पर हमला किया है. इससे एक दिन पहले हमास (Hamas) के नियंत्रण वाले गाजा से इजरायल पर रॉकेट दागे गए थे. दक्षिणी गाजा स्ट्रिप के खान यूनिस (Khan Younis) से रिकॉर्ड किए गए वीडियो में देखा जा सकता है कि तीन बड़े धमाकों को सुना जा सकता है. साथ ही हवा में लड़ाकू विमानों की गरज भी सुनाई दे रही है. हालांकि, अभी तक इस हमले (Israel attack on Gaza Strip) में किसी के भी हताहत होने की जानकारी नहीं है. इस साल मई में भी हमास और इजरायल के बीच जंग हुई थी.

इजरायली सेना ने कहा कि हमलों के जरिए हमास के एक रॉकेट निर्माण फैसिलिटी और एक सैन्य चौकी को निशाना बनाया गया. इसने उग्रवादी इस्लामी समूह को गाजा पट्टी से होने वाली किसी भी हिंसा के लिए जिम्मेदार भी ठहराया. ये हवाई हमले शनिवार को गाजा से दागे गए दो रॉकेटों के जवाबी कार्रवाई के रूप में किए गए हैं. रॉकेट्स मध्य इजरायल से दूर भूमध्यसागर में आकर गिरे थे. लेकिन ये स्पष्ट नहीं है कि इन रॉकेट हमलों को इजरायल को निशाना बनाकर किया गया था या नहीं. लेकिन गाजा स्थित उग्रवादी संगठन अक्सर ही समुद्र की ओर मिसाइलों का टेस्ट करता रहा है. शनिवार को हुए हमलों में किसी के हताहत होने की जानकारी नहीं है.
हमास और इजरायल के बीच इस मुद्दे को लेकर भी है तनाव
सितंबर में इस तरह की एक घटना के बाद सीमा पार रॉकेट हमलों को नहीं देखा गया है. मई में इजरायल और हमास (Israel-Hamas) के बीच 11 दिनों तक युद्ध चला, जिसके बाद हुए युद्धविराम से ही दोनों पक्ष ने सीमा पर शांति बनाई हुई है. हालांकि, मिस्र (Egypt) और अन्य मध्यस्थों द्वारा करवाया गया ये युद्धविराम बेहद ही नाजुक है. चरमपंथी हमास ग्रुप का कहना है कि इजरायल ने मिस्र की मदद से गाजा पर लगाई गई नाकेबंदी को कम करने के लिए गंभीर कदम नहीं उठाए हैं. इसे लेकर ही अक्सर तनाव बना रहता है. गाजा स्ट्रिप पर हमास ने 2007 में कब्जा कर लिया था.
बुधवार को भी हुआ संघर्ष
इस समय हमास-इजरायल के बीच तनाव इसलिए भी है, क्योंकि छोटे लेकिन अधिक कट्टरपंथी इस्लामिक जिहाद जैसे ग्रुप्स ने सैन्य हमलों की चेतावनी दी है. इनका कहना है कि यदि इजरायल एक फलस्तीनी कैदी की प्रशासनिक हिरासत को खत्म नहीं करता है, तो हमले किए जाएंगे. ये कैदी 130 दिनों से भूख हड़ताल पर बैठा है. बुधवार को, गाजा में फलस्तीनी उग्रवादियों ने सुरक्षा बाड़ के पास एक इजरायली नागरिक को गोली मार दी. इसके बाद इजरायल ने टैंकों के जरिए हमास के कई ठिकानों को निशाना बनाते हुए इसका जवाब दिया.
Next Story
© All Rights Reserved @ 2022Janta Se Rishta